मोदी सरकार में देश में प्रति व्यक्ति पर 68,400 रुपये का कर्ज: मौलाना उमर कासमी

भोपाल: मध्य प्रदेश कांग्रेस के सचिव मौलाना उमर कासमी ने केंद्र के विकास के दावों पर सवाल उठाते हुए कहा कि बीते पाँच सालों में मोदी सरकार ने देश को कर्ज में डुबो दिया है।

उन्होने कहा कि आज देश पर 91 लाख करोड़ रुपये का कर्ज है। अगर इस कर्ज की प्रति व्यक्ति के आधार पर गढ़ना की जाए तो आज भारत के हर नागरिक पर 68,400 रुपये का कर्ज है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि 2014 से पहले यूपीए सरकार के दौरान देश पर 53 लाख करोड़ रुपये का कर्ज था। जो अब बढ़कर मार्च 2014 में 53 लाख करोड़ रुपये पार कर गया है।

उन्होने कहा कि इस कर्ज के बावजूद भी आज मोदी सरकार के पास देश की सीमाओं की सुरक्षा में लगे जवानों को पगार तक देने का पैसा नहीं है। बीते दो महीनों से एसएसबी जवानों को वेतन नहीं मिला है।

कासमी ने बताया कि राष्ट्रवादियों की सरकार में एसएसबी ने जवानों को जनवरी और फरवरी के दौरान एरियरों और अन्य वेतन भत्तों का भुगतान रोकने का फैसला किया। जो आज बड़े शर्म की बात है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE