योगी सरकार ने कोटा से छात्रों निकालने के लिए भेजी 250 बसें, लॉकडाउन की उड़ी धज्जियां

कोटा. लॉकडाउन के दौरान राजस्थान में फंसे उत्तरप्रदेश के करीब साढ़े 7 हजार कोचिंग छात्रों को लेने के लिए शुक्रवार को यूपी सरकार ने 252 बसें कोटा भेजी। इस दौरान लॉकडाउन की धज्जियां उड़ा के रख दी गई। सोशल डिस्टेन्सिंग का तो कोई पालन ही नहीं हुआ।

दरअसल, कोटा बस स्टैंड पर एक साथ दर्जन भर से ज्यादा बसें खड़ी थी। हर बस में बारी-बारी से 30 छात्रों को बिठाना था, लेकिन बस पकड़ने के लिए छात्रों की भारी भीड़ जुट गई। इस दौरान ना कोरोना संक्रमण का डर था, ना चेहरे पर मास्क, ना ही एक दूसरे के बीच कोई फासला था।

जानकारी के अनुसार,  यूपी से कोटा करीब 250 बसें भेजी गई हैं। 150 बसें आगरा से रवाना हुई तो वहीं 100 बसें झांसी से भेजी गई। कोटा जिला कलेक्टर ओमप्रकाश कसेरा का कहना है कि शनिवार सुबह तक सभी स्टूडेंट्स उत्तर प्रदेश में अपने-अपने घर तक पहुंच जाएंगे।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि जैसा कि यूपी सरकार ने कोटा में रहने वाले छात्रों को वापस बुलाया है। यह अन्य राज्यों के छात्रों के लिए भी किया जा सकता है। कोटा में छात्रों को संबंधित राज्य सरकार की सहमति पर उनके गृह राज्यों में भेजा जा सकता है, ताकि वे युवा लड़के और लड़कियां घबराएं या प्रभावित न हों।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के अलावा बिहार, मध्य प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, दिल्ली और पश्चिम बंगाल के भी स्टूडेंट्स कोटा के विभिन्न कोचिंग संस्थानों में अध्ययन कर रहे हैं। अचानाक लॉकडाउन होने के कारण ये स्टूडेंट्स यहां लंबे समय से फंसे हुए हैं। ये सभी अपने घर जाना चाहते हैं, लेकिन रेल और रोडवेज की बसें बंद होने के कारण नहीं जा पा रहे।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE