ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की शिक्षा पर वेबीनार संपन्न

एम. एस.ओ. उत्तर प्रदेश के तत्वधान में ‘लव फॉर ऑल हेड फॉर नन’ मिशन के अंतर्गत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की सूफी शिक्षाओं और विचारधारा के प्रसार में भूमिका पर जुलाई 22 को देर शाम रात 9:00 बजे एक वेबीनार का आयोजन किया गया.

इस आयोजन में मुख्य वक्ता हजरत सय्यद मोहम्मद कादरी,अध्यक्ष सुन्नी दावते इस्लामी राजस्थान थे व वेबीनार का संचालन शुजात अली कादरी, राष्ट्रीय अध्यक्ष एमएसओ ने किया. वेबीनार में मुख्य रूप से आबू अशरफ, अध्यक्ष एमएस उत्तर प्रदेश, इंजीनियर हबीबुर्रहमान अध्यक्ष एम एस ओ, राजस्थान संगठन के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने ऑनलाइन भाग लिया.  मुख्य वक्ता की बात खत्म होने पर एक प्रश्न उत्तर कार्यक्रम का आयोजन भी हुआ जिसमें प्रतिभागी सदस्यों ने यह प्रश्न पूछे जिनका मुख्य वक्ता ने संतोष पूर्ण जवाब दिया.

वेबीनार में बोलते हुए सैयद अहमद कादरी ने गरीब नवाज ख्वाजा की सूफी शिक्षाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज आवश्यकता है कि हम अपने आचरण को शुद्ध करें तथा समाज के दुख दर्द को समझ कर एक दूसरे की भलाई करें. दीन की परिभाषा बताते हुए उन्होंने कहा कि इसका मूल भलाई में निहित है और इस्लाम की शिक्षाएं समाज की भलाई मैं ही हैI उन्होंने नबी के कई उदाहरण देते हुए उनके द्वारा की गई भलाई को अपने आदर्शों में उतारने की अपील की यही सच्चे सुखी होने की निशानियां है.

आज समाज में फैली हुई वैमनस्यता, ईर्ष्या, आतंकवाद का खंडन करते हुए उन्होंने इस्लाम के मानने वालों को दिल साफ करके अपने दिन वह देश के लिए अपना सर्वस्व देने का आवाहन किया तथा मुसलमानों को भी हर कीमत पर मदद करने की अपील की जो सूफी तालीम इल्म है.


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE