26 आयतों को हटाकर वसीम रिजवी ने छपवाया कुरान, नाम दिया – ‘द रियल कुरान’

यूपी शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड केपूर्व अध्यक्ष और वर्तमान सदस्य वसीम रिजवी ने 26 आयतों को हटाकर खुद की और से नया कुरान प्रकाशित किया है। जिसे उसने ‘द रियल कुरान’ का नाम दिया।

रिजवी ने कहा कि वह इस किताब ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) के प्रमुख को भेजेंगे। रिजवी की किताब में कुरान की उन 26 आयतों को हटा दिया है, जिनके बारे में उसने दावा किया है कि ये आ’तंकवाद को बढ़ावा दे रही थीं। उन्होंने दावा किया कि इन आयतों को पैगंबर मुहम्मद के दुनिया से जाने के बाद जोड़ा गया था।

इससे पहले, सुप्रीम कोर्ट ने रिजवी पर 50,000 रुपये का जुर्माना लगाया था और उसकी याचिका खारिज कर दी थी, जिसमें इन 26 आयतों को हटाने में शीर्ष अदालत के हस्तक्षेप की मांग की गई थी। उसने फिर से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है।

रिजवी ने एक वीडियो में कहा, ‘मैंने पहला असली कुरान छापा है, पैगंबर मुहम्मद के बाद कैसा होना चाहिए था। मैं इस प्रति को एआईएमपीएलबी प्रमुख को अध्ययन के लिए भेजूंगा ताकि उन्हें पता चल सके कि आ’तंकवाद और हिं’सा को समाप्त करने में इस पुस्तक से कितना फर्क पड़ेगा।

उसने कहा कि उन्होंने ‘असली कुरान’ की एक प्रति भी प्रधानमंत्री को इस अनुरोध के साथ भेजी है कि इसे सभी मदरसों के पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाए। उसने ये भी कहा कि यह जल्द ही बाजार में उपलब्ध होगा।