Video: बीट गार्ड ने किया अपने उच्च अधिकारी पर मुकदमा दर्ज, बोला – अब वर्दी भी उतरवा दूंगा

खाकी वर्दी पर हमेशा से ही रिश्वतख़ोरी और भ्रष्टाचार के आरोप लगते आए है। हाल के दिनों में कई मामले ऐसे सामने आए। जिसमे खाकी शर्मसार हो गई। इसी बीच एक ऐसा मामला सामने आया है। जो सुकून देने वाला है। जिसमे एक बीट गार्ड ने आरक्षित जंगल में अवैध कटाई को लेकर अपने ही उच्च अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।

जानकारी के अनुसार, छत्तीसगढ़ में कटघोरा क्षेत्र में बांकीमोंगरा में बांस बाड़ी के अंदर बांस काटने को लेकर  बीट गार्ड शेखर सिंह रात्रे ने रेंजर मृत्युंजय शर्मा, परिक्षेत्र सहायक दर्री अजय कौशिक, बीट गार्ड रामकुमार समेत 11 मजदूरों के खिलाफ पीओआर (प्राथमिक अपराध प्रतिवेदन) काटा है। इसके साथ ही रेंजर मृत्युंजय शर्मा, परिक्षेत्र सहायक दर्री अजय कौशिक, बीट गार्ड रामकुमार समेत 11 मजदूरों के खिलाफ पीओआर (प्राथमिक अपराध प्रतिवेदन) काटा है। इसके अलावा 11 टंगिया जब्त कर ली।

वायरल हो रहे विडियो में अवैध कटाई किए जाने पर शेखर सिंह रात्रे अपने रेंजर मृत्युंजय सिंह को फटकार लगाते दिखते हैं। उन्होंने मौके पर ही रेंजर, डिप्टी रेंजर और 11 मजदूरों को रंगे हाथों पकड़ा और कटाई के लिए जारी लिखित आदेश की प्रति मांगी। अधिकारी अपने बचाव में विभागीय उद्देश्य के लिए ही बांस कटाई की बात करते रहे। इस पर बीट गार्ड ने कहा कि यह आरक्षित वन क्षेत्र है। जहां पेड़ काटने की अनुमति नहीं होती है। आपको नियम कानून का पता नहीं है। आप अपराधी हो।

बीट गार्ड रात्रे ने रेंजर से कहा पंचनामा में हस्ताक्षर करना होगा। रेंजर भी जवाब देते रहे, लेकिन बीट गार्ड मानने को तैयार नहीं था। उसने यहां तक कह दिया कि भले ही आप रेंजर हो लेकिन यहां की सुरक्षा की मेरी जिम्मेदारी है। ज्यादा करोगे तो वर्दी उतरवा दूंगा।  शेखर ने कहा,  ‘मैंने पंचनामा बनाकर आरक्षित वन में धारा 26 /1 के तहत कार्रवाई की है। धारा 52 के तहत जब्त किया गया है।

मामले में मुख्य वन संरक्षक बिलासपुर (सीसएफ) अनिल सोनी ने विभागीय जांच के आदेश दिए हैं तथा शनिवार शाम तक रिपोर्ट आने की उम्मीद है। उन्होंने् कहा कि सिर्फ वीडियो के आधार पर कार्रवाई नहीं की जा सकती इसलिए डीएफओ से रिपोर्ट मांगी गई है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE