उइगर मुस्लिमों को लेकर अमेरिका ने चीन की 11 कंपनियों पर लगाया प्रतिबंध

उइगर मुस्लिम (Uighurs Muslims) समुदाय पर चीन (China) का जुल्मोंसितम जारी है। जिसको लेकर अब अंतराष्ट्रीय समुदाय ने सख्त रवैया अख़्तियार कर लिया है। इसी बीच अमेरिका के वाणिज्य विभाग ने चीन की 11 कंपनियों पर व्यापारिक प्रतिबंध लगा दिए हैं।

अमेरिका के वाणिज्य विभाग ने बताया कि चीनी कंपनियां उइगर व अन्य मुस्लिम समुदाय के लोगों से बलपूर्वक काम लेती हैं। अमेरिका द्वारा प्रतिबंध इन 11 चीनी कंपनियों में टैक्सटाइल्स कंपनियां और दो सरकारी कंपनियां भी शामिल हैं। वाणिज्य विभाग ने कहा कि प्रतिबंधित सूची में डाले जाने से इन 11 कंपनियों की अमेरिकी सामान और प्रौद्योगिकी तक पहुंच सीमित होगी।

अमेरिका के वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस ने एक बयान में कहा कि यह प्रतिबंध सुनिश्चित करेंगे कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी वहां के असहाय मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ अमेरिकी सामान और प्रौद्योगिकी का उपयोग न कर सके। हालांकि, विभाग ने इस बात की जानकारी नहीं दी कि इससे किन वस्तुओं पर प्रभाव पड़ेगा।

हाल ही में मेरिका में रहने वाली उइगर लेखक रेयान असत (RAYHAN ASAT) ने बड़ा खुलासा करते हुए दावा किया था कि चीन उइगर समुदाय की महिलाओं को जबरदस्ती बांझ बना रहा है। चीन आधुनिक तकनीक के जरिए ये सुनिश्चित करता है है कि उइगर समुदाय में कम से कम बच्चे पैदा हों। इसके अलावा जो बच्चे पैदा हो रहे हैं उन्हें भी अन्य समुदाय में भेज दिया जाता है जिससे वे अपने तौर-तरीको और रहन-सहन से दूर हो जाएं।

रेयान ने दावा किया है कि चीन ने शिनजियांग प्रांत में ग्रिड मैनेजमेंट सिस्टम लागू किया है। इसके जरिए वह उइगरों की जिंदगी के धार्मिक, पारिवारिक, सांस्कृतिक और सामाजिक समेत हर पहलू पर नजर रख सकता है। इस सिस्टम के तहत शहरों और गावों को करीब 500-500 लोगों के वर्ग में बांटा गया है और हर वर्ग का एक पुलिस स्टेशन है, जिसके जरिए लोगों पर करीब से निगरानी रखी जाती है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE