मौलाना साद से अभी तक मरकज मामले में नहीं की जा सकी पूछताछ: दिल्ली पुलिस

निजामुद्दीन मरकज मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच तबलीगी जमात के प्रमुख मौलाना साद से अब तक पूछताछ नहीं कर पाई है। हालांकि अन्य सभी नामजद आरोपियों से पूछताछ की जा चुकी है और उनके बयान भी दर्ज किए गए हैं। दिल्ली पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी।

मरकज मामले में क्राइम ब्रांच ने 7 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर इन्हें आरोपी बताया था। इन लोगों पर दिल्ली में गंभीर स्थिति के दौरान लोगों को अवैध रूप से जमा करने और लापरवाही बरतने का आरोप है। दिल्ली पुलिस ने इन सात लोगों में से 6 से गहन पूछताछ की है। अब केवल मरकज प्रबंधन के नामजद आरोपियों में सिर्फ मौलाना साद ही है, जिससे क्राइम ब्रांच को पूछताछ करनी है।

एफआईआर में मौलाना साद, डॉ. जीशान, मुफ्ती शहजाद, एम. सैफी, यूनुस, मोहम्मद सलमान और मोहम्मद अशरफ के नाम हैं। उनके खिलाफ कड़ी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है, जिसमें गैर इरादतन ह’त्या जैसी धारा भी शामिल है। इसके अलावा उनके खिलाफ 31 मार्च को महामारी अधिनियम और आपदा प्रबंधन अधिनियम के उल्लंघन के तहत भी मामला दर्ज किया जा चुका है।

एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी ने कहा, “मौलाना साद को छोड़कर सभी नामजद अभियुक्तों से पूछताछ की गई है।” दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा (क्राइम ब्रांच) इस मामले की जांच कर रही है और पुलिस उपायुक्त जॉय तिर्की इसकी देखरेख कर रहे हैं।

केंद्र सरकार ने पांच जून को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के आयोजन में सीबीआई जांच की जरूरत नहीं है, क्योंकि इस घटना की दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने एक उन्नत स्तर पर जांच की है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE