भगोड़ा और रे’प का आरोपी स्वामी नित्यानंद शुरू करेगा ‘रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा’

बलात्कार का आरोपी भगोड़ा बाबा नित्यानंद अपने खुद के केंद्रीय बैंक को शुरू करने जा रहा है। इस बैंक का नाम रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा होगा। बता दें कि वह कैलासा नाम का एक अलग देश और उसकी कैबिनेट बनाने का दावा कर चुका है।

नित्यानंद ने एक Video जारी कर कहा कि “उनके देश” ने एक अन्य देश के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं जो उनके बैंक की मेजबानी करेगा, जिसे ‘हिंदू निवेश और रिज़र्व बैंक’ कहा जाएगा। उसने बताया कि वह आधिकारिक तौर पर 22 अगस्त को गणेश चतुर्थी के अवसर पर अपने रिजर्व बैंक ऑफ कैलासा की करेंसी को लॉन्च करेगा।

वीडियो में उसे यह कहते हुए सुना जा सकता है कि बैक के लिए पूरी आर्थिक नीतियां, 300 पन्ने का दस्तावेज़, करेंसी पूरी तरह से तैयार है। हम जो करने जा रहे हैं उसकी आर्थिक रणनीति, आंतरिक मुद्रा का उपयोग और बाहरी विश्व मुद्रा विनिमय सभी कानूनी रूप से किया गया है।

उन्होंने कहा कि जो देश उनके रिजर्व बैंक की मेजबानी कर रहा है, उसके साथ MoU पर हस्ताक्षर किए गए हैं और सब कुछ कानूनी तौर पर होगा। इससे पहले उसने अपने अलग देश ‘कैलासा’ के गठन की घोषणा की थी। कैलासा की वेबसाइट के अनुसार, नित्यानंद का कैलासा ‘दुनिया का सबसे बड़ा डिजिटल हिंदू राष्ट्र’ है।

वेबसाइट पर बताया गया कि राष्ट्रीय पशु, पक्षी, प्रतीक, वृक्ष और फूल के साथ पहले से ही ‘ऋषभ ध्वज’नामक एक फ्लैग भी है। इसकी तीन आधिकारिक भाषाए अंग्रेजी, संस्कृत और तमिल है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE