सुप्रीम कोर्ट से वसीम रिजवी की याचिका की खारिज, 50,000 रुपये जुर्माना देने को कहा

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को वसीम रिजवी की उस याचिका खारिज कर दिया, जिसमें पवित्र कुरान से 26 आयतों को हटाने की मांग करने वाली याचिका दायर करने पर लगे 50,000 रुपए के जुर्माने को माफ करने की याचिका लगाई थी।

जस्टिस रोहिंटन फली नरीमन, केएम जोसेफ और बीआर गवई की बेंच के समक्ष वसीम रिजवी की याचिका सूचीबद्ध हुई थी। लेकिन याचिकाकर्ता के वकील ए देब कुमार ने जुर्माना माफ करने की मांग करने वाली इस याचिका को वापस ले लिया।

हालांकि वसीम रिजवी ने पवित्र कुरान से 26 आयतों को हटाने की मांग करने वाली एक बार फिर से पुनर्विचार याचिका दाखिल की है। जिसमे रिज़वी ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट को अपने 12 अप्रैल के आदेश पर पुनर्विचार करना चाहिए, क्योंकि कोर्ट ने बहुत महत्वपूर्ण तथ्यों को नजरअंदाज कर दिया है।

बता दें कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका को ‘तुच्छ याचिका’ करार दिया था और 50000 रुपए का जुर्माना भी लगाया था। रिजवी ने कुरान की कुछ आयतों को आतं’कवाद से जोड़कर और इस्लामिक खलीफाओं के खिलाफ अपनी टिप्पणी कर विवाद खड़ा कर दिया है।

हाल ही में उस पर उसके ही ड्राइवर की पत्नी ने बला’त्कार का आरोप लगाकर पुलिस में मुकदमा दर्ज कराया है। जिसकी फिलहाल जांच जारी है।