देशद्रोह केस में शरजील इमाम के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने चार्ज़शीट की दाख़िल

नई दिल्ली। जामिया इलाके में बीते 15 दिसंबर को हुई कथित हिंसा के मामले में गिरफ्तार जेएनयू के छात्र शरजील इमाम के खिलाफ दिल्ली क्राइम ब्रांच ने आरोप पत्र दाखिल कर दिया है। इस चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने शरजील को भड़काऊ भाषण देने और दंगे उकसाने के लिए आरोपी बनाया है।

शरजील इमाम ने नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ चल रहे विरोध-प्रदर्शन के दौरान 15 दिसंबर, 2019 को यह भाषण दिया था। जिसके बाद  पुलिस ने 28 जनवरी को बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार किया था। पुलिस ने शरजील के खिलाफ धारा 124 ए (राजद्रोह) और 153 ए (धर्म,भाषा और नफरत फैलाना) के तहत केस दर्ज किया था।

शरजील इमाम के वकील अहमद इब्राहिम ने कहा है, “हमने दिल्ली पुलिस की ओर से 17 अप्रैल, 2020 को दाख़िल की गई चार्ज़शीट को पूरी तरह से नहीं देखा है। इसे पूरी तरह से देखने के बाद हम उचित क़दम उठाएंगे।”

CAA और NRC का विरोध करने के दौरान शरजील का एक वीडिया वायरल हुआ था। वायरल हुए वीडियो में शरजील कहते हैं कि “अगर हमें असम के लोगों की मदद करनी है तो उसे भारत से कट करना होगा।”

दिल्ली पुलिस ने बयान में कहा है कि 15 दिसंबर को नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में जमकर हिंसा हुई थी। जिसमें सार्वजनिक और निजी संपत्ति को भारी नुकसान हुआ था।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE