ट्रम्प के दौरे से पहले झुग्गी को छुपाने के लिए बनी दीवार के विरोध में हड़ताल शुरू

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे को लेकर अहमदाबाद में झुग्गी को छुपाने के लिए दिवारे बनाई जा रही है। लेकिन अब इन दीवारों के विरोध में स्थानीय लोगों ने हड़ताल शुरू कर दी है।

केरल की सोशल वर्कर अश्वती ज्वाला ने शरणीव्यास स्लम के सामने बनी दीवार से पास इस भूख हड़ताल की शुरुआत की है। जिसमे उनका स्थानीय लोग भी साथ दे रहे है। मालूम हो कि अहमदाबाद नगर निगम ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के दौरे से पहले मोटेरा स्टेडियम के पास रहने वाले करीब 45 परिवारों को जगह खाली करने का नोटिस दिया था। इसके बाद उन परिवारों के सिर पर छत का संकट आ गया।

द हिंदू से बातचीत में भूख हड़ताल के बारे में ज्वाला का कहना है कि उन्होंने समाचार पत्र में झुग्गियों को छुपाने के लिए गुजरात सरकार की तरफ से बनाई जा रही 600 मीटर की दीवार के बारे में पढ़ा था। उन्होंने बताया कि मुझे यह खबर पढ़ कर झटका लगा। इसके बाद मैंने झुग्गिवासियों के समर्थन में हड़ताल करने का फैसला लिया।

इसके बाद ज्वाला ने झुग्गीवासियों से मुलाकात की। इसके बाद उन्हें पता लगा कि पुलिस ने वहां रहने वाले लोगों को डराया है। ज्वाला का कहना है कि सरकार इन झुग्गिवासियों के साथ जो कर रही है वह किसी अत्याचार से कम नहीं है। ज्वाला का कहना है कि सरकार को यहां कई दशकों से रहने वाले झुग्गीवासियों का सही तरीके से पुनर्वास करना चाहिए।

हालांकि, इस बारे में अहमदाबाद नगर निगम का कहना है कि इन नोटिसों का ट्रंप के दौरे से कुछ भी लेना देना नहीं है। नगर निगम के प्रमुख विजय नेहरा कथित रूप से झुग्गियों को छुपाने के लिए बनाई गई 600 मीटर ऊंची दीवार बनाए जाने का भी इस हाई प्रोफाइल दौरे से किसी भी तरह के संबंध होने से इनकार कर चुके हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE