कश्मीर में आत्‍मसमर्पण करने वाले आतंकियों को मिलेंगे 6 लाख रुपए

जम्मू-कश्मीर सरकार ने आतंकियों के लिए नई सरेंडर नीति जारी की है. जिसके तहत अब आतंकियों को आत्‍मसमर्पण करने पर 6 लाख रुपए मिलेंगे. इसके अलावा अगर हथियार के साथ आत्मसमर्पण करते हैं तो उन्हें इसके लिए अतिरिक्त आर्थिक सहायता भी मिलेगी.

बता दे कि महबूबा सरकार ने ये फैसला गृह मंत्रालय के उस सुझाव के बाद लिया है. जिसमे आतंकियों को मुख्यधारा में लाने के लिए एक सरेंडर एंड रिहैबिलिटेशन पॉलिसी बनाने की बात कही गई थी.

नई पालिसी के तहत ऐसे आतंकियों को पासपोर्ट और नौकरी की सुविधा भी मिलेगी . ताकि मुख्यधारा में लौटने के बाद वे आराम से जीवनयापन कर सकें. हालाँकि 6 लाख रुपए की ये रकम फिक्सड डिपॉजिट में होगी, जो 10 साल बाद निकाले जा सकेंगे. इसके साथ ही सरकार आतंकियों को हर महीने 4000 रुपए की आर्थिक सहायता भी देगी.

सांकेतिक तस्वीर

इसी बीच केंद्र सरकार ने साफ कर दिया है कि कश्मीर से उसका आर्म्ड फोर्सेज स्पेशल पावर एक्ट (AFSPA) हटाने का कोई इरादा नहीं है.

मंगलवार को लोकसभा में एक लिखित प्रश्न के उत्तर में गृह राज्यमंत्री हंसराज अहीर ने कहा है कि आर्म्ड फोर्सेज स्पेशल पावर एक्ट 1990 को हटाने का या इसमें संशोधन करने का सरकार का कोई इरादा नहीं है. इसके अलावा उन्होंने कहा, इस कानून को हटाने के किसी भी प्रस्ताव पर सरकार  फिलहाल विचार भी नहीं कर रही है.