मुस्लिम को पाकिस्तानी कहने पर हो तीन साल की क़ैद- असदुद्दीन ओवैसी

0
676

नई दिल्ली । आजकल पूरे देश में एक चलन से चल गया है। एक विशेष संगठन और राजनीतिक दल के नेता मुस्लिमों की देशभक्ति को संदेह के नज़र से देख रहे है। इसलिए सार्वजनिक मंचो पर ये लोग मुस्लिमों को पाकिस्तान चले जाने की हिदायत तक दे देते है। टीवी न्यूज़ चैनल पर होने वाली डिबेट में भी भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा, कई मुस्लिम संगठन के नेताओ पर पाकिस्तानी परस्त होने का आरोप लगा चुके है।

अब ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इस मुद्दे को संसद के पटल पर रखा है। उन्होंने सरकार से माँग की है की वह ऐसे लोगों को जेल में डाले जो मुस्लिमो को पाकिस्तानी कहते है। हालाँकि उन्होंने यह भी कहा की मुझे मालूम है की सरकार ऐसा कोई क़ानून नही लाएगी फिर भी मैं संसद के माध्यम से यह अपील ज़रूर करूँगा।

बुधवार को लोकसभा में बोलते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा,’ ऐसा कानून लाइए, ताकि किसी भी मुस्लिम को अगर पाकिस्तानी कहा जाए, तो कहने वाले को तीन साल की कैद भुगतनी पड़े…हालाँकि मुझे पूरा भरोसा है कि उनकी मांग को माना नहीं जाएगा, और भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार इस तरह का कोई विधेयक नहीं लाएगी।’ इस दौरान ओवैसी ने तीन तलाक़ बिल पर भी अपनी राय रखी।

उन्होंने कहा कि तीन तलाक़ बिल महिला विरोधी है और यह केवल मुस्लिम युवकों को जेल में डालने की साज़िश है। उन्होंने दहेज प्रताड़ना बिल का उदाहरण देते हुए कहा की क्या इस क़ानून से दहेज के लिए होने वाली मौतें तथा महिलाओं के खिलाफ होने वाले अन्य अपराध रुके? इसलिए संसद में प्रस्तुत किया गया बिल सामाजिक समस्याओं का समाधान नहीं है। मालूम हो कि शिवसेना ने ओवैसी को भारत माता की जय नही बोलने पर पाकिस्तान चले जाने की सलाह दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here