योग को बढ़ावा देने के लिए सऊदी अरब ने भारत के साथ MoU पर हस्ताक्षर किए

सऊदी अरब में योग को बढ़ावा देने के लिए सऊदी अरब ने सोमवार को भारत के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। अरब न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, समझौता ज्ञापन राज्य में योग पाठ्यक्रमों की स्थापना का मार्ग प्रशस्त करेगा।

भारत के आयुष मंत्रालय से संबद्ध मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान और सऊदी खेल मंत्रालय के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। रियाद में MoU पर भारतीय राजदूत डॉ. औसाफ सईद और सऊदी खेल मंत्रालय से जुड़े लीडर्स डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट के निदेशक अब्दुल्ला फैसल हम्माद ने हस्ताक्षर किए।

इसके साथ ही सऊदी अरब के खेल मंत्रालय द्वारा योग को औपचारिक रूप से देश में एक महत्वपूर्ण खेल गतिविधि के रूप में मान्यता दी गई है।

एमओयू पर पिछले छह-सात महीने से बातचीत चल रही थी। योग मानक उन्नत चरणों में हैं और यह समझा जाता है कि विशेषज्ञों और सऊदी खेल मंत्रालय द्वारा स्थानीय कानूनों और मानदंडों के अनुरूप मानकों का मसौदा तैयार करने के साथ एक घोषणा की जा रही है।

मानकों के तहत योग प्रशिक्षकों का औपचारिक प्रमाणन परीक्षा के साथ शुरू होगा और मूल्यांकन की प्रक्रिया हो सकती है। समझौता ज्ञापन योग के क्षेत्र में अनुसंधान, शिक्षा और प्रशिक्षण में सहयोग की सुविधा भी प्रदान करता है।

सऊदी अरब ने योग समिति का गठन किया गया है जिसके पास किसी भी अन्य खेल संघ की तरह एक स्वतंत्र योग महासंघ की शक्ति होगी।