No menu items!
27.1 C
New Delhi
Tuesday, October 19, 2021

राजस्थान में चलेगी वाटर ट्रेन, की जाएगी गांव-गांव पानी की सप्लाई

राजस्थान के कई जिलो में इस साल औसत से भी कम बारिश हुई है। ऐसे में राजस्थान सरकार सितंबर के अंत तक पाली जिले में ‘वाटर ट्रेन’ चलाने पर विचार कर रही है।

दरअसल, क्षेत्र की जीवन रेखा माने जाने वाला जवाई बांध पाली शहर, सुमेरपुर, रानी, ​​फालना, बाली, जैतारण, सोजत, तख्तगढ़, मारवाड़ जंक्शन सहित पाली जिले को पानी की आपूर्ति करता है। लेकिन इस बार उसका जल स्तर सिर्फ 10 फीट है। क्षेत्र के सैकड़ों गांव सिंचाई और पीने के पानी के लिए बांध पर निर्भर हैं।

अधिकारियों ने बताया कि जल संसाधन एवं जन स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग 15 सितंबर के बाद सरकार को रिपोर्ट भेजकर ट्रेन से पेयजल आपूर्ति के लिए बजटीय मंजूरी की मांग करेगा। अगर 15 सितंबर तक बारिश की स्थिति में सुधार नहीं होता है तो 21 सितंबर से ‘वाटर ट्रेन’ चलाने की योजना पर विचार किया जा रहा है।

पीएचईडी के अधीक्षण अभियंता जगदीश प्रसाद शर्मा ने बताया कि ट्रेन जोधपुर से पाली तक चार फेरे में प्रतिदिन करीब एक करोड़ लीटर पानी की आपूर्ति करेगी। इससे पहले 2019 में भी पाली में ट्रेन से पानी की आपूर्ति करनी पड़ी थी, जब क्षेत्र में मानसून औसत से कम था।

राजस्थान में लगभग एक दर्जन जिले कम वर्षा के कारण सूखे हैं। इस वर्ष, राजस्थान में औसत वर्षा अभी भी 2 सितंबर, 2020 तक की तुलना में 8.8 प्रतिशत कम है। इनमें बांसवाड़ा, बाड़मेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, डूंगरपुर, श्रीगंगानगर, जालोर, झुंझुनू, जोधपुर, पाली, राजसमंद और उदयपुर शामिल हैं।

श्रीगंगानगर जिले में इस सीजन में अब तक 74 मिमी बारिश हुई है जो बहुत कम है जबकि बारां में 1074.90 मिमी बारिश हुई है जो राज्य में सबसे अधिक है।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Get in Touch

0FansLike
2,986FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Posts