कोरोना: जयपुर में डॉक्टर ने किया कमाल, बनाई अब तक की सबसे सस्ती पीपीई किट

जयपुर । राजधानी के जेकेलोन हाॅस्पिटल में एक डॉक्टर ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए एक पर्सनल प्रोटेक्शन किट यानी पीपीई किट बनाई है। जेके लोन अस्पताल के सहायक प्रोफेसर डॉ. योगेश यादव ने यह किट बनाई है।

अस्पताल के अधीक्षक डॉ अशोक गुप्ता ने निर्देशन में यह किट बनाई गई है। डॉ. योगेश यादव ने बताया कि यह किट बाजार की अन्य किट से तीन गुना सस्ती होगी। बताया गया है कि यह किट आरामदेह, किफायती और सुविधाजनक होने के साथ मानकों पर भी खरा उतरी है।

उन्होंने बताया कि इस पीपीई किट का मेटेरियल नॉन टोक्सिक, नॉन वो वन क्लाथ एवं गर्वमेंट अपवर्ड प्लास्टिक के सह मिश्रण से तैयार किया गया है। यह वायरस, वैक्टीरिया, रक्त व अन्य बॉडी फ्लूड, बायोलॉजिकल हेजार्डस मेटेरियल अंदर नहीं जा सकें। बाजार में मौजूद 1000 से लेकर 1500 के अन्य पीपीई किट से 3 गुणा सस्ती है। पहनने और उतारने में भी सुविधाजनक होने के साथ साथ लम्बे समय तक कार्य करने के लिए आरामदायक है।

बता दें कि प्रदेश के 22 जिलों में कोरोना संक्रमण फैल चुका है। शहरों के बाद अब ग्रामीण इलाकों में भी पॉजिटिव केस मिलने लगे हैं। प्रदेश में बुधवार को 21 नए मामले सामने आए। इस तरह अब कुल आंकड़ा 364 पर पहुंच गया है। जयपुर में 12, बीकोनर में छह, जोधपुर, झुंझुनूं और बांसवाड़ा में एक-एक पॉजिटिव केस सामने आए है।

राजस्थान के 33 में से 22 जिलों में 324 कोरोना के केस मिल चुके हैं। सबसे ज्यादा जयपुर में 120 (दो इटली के नागरिक) पॉजिटिव मिल चुके हैं। जोधपुर 67 (इसमें 36 ईरान से आए), भीलवाड़ा में 27, झुंझुनूं में 24, टोंक में 20, चूरू में 11, प्रतापगढ़ में दो, डूंगरपुर में पांच, अजमेर में पांच, अलवर में पांच, बीकानेर में 20, उदयपुर में चार, भरतपुर में आठ, दौसा में छह, बांसवाड़ा में 10, प्रतापगढ़ और पाली में दो-दो, कोटा में 10, जैसलमेर में 14, करौली, नागौर, धौलपुर और सीकर में एक-एक संक्रमित मिला है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE