VC बोले – अल्पमत से बना था संविधान, Video वायरल होने पर छात्र को हॉस्टल से निकाला

कोलकाताः पश्चिम बंगाल के विश्व भारती यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर (वीसी) विद्युत चक्रवर्ती का एक Video वायरल हो रहा है। जिसमे वह कथित तौर पर संविधान बदलने की बात कह रहे है। ये Video 7 जनवरी का बताया जा रहा है।

वायरल Video में वह कह रहे “आज, जो सीएए का विरोध कर रहे हैं वे संविधान की प्रस्तावना पढ़ रहे हैं। लेकिन यह संविधान `अल्पसंख्यक’ मतों द्वारा तैयार किया गया था। केवल 293 लोग संविधान सभा में मिले और संविधान का मसौदा तैयार किया। यदि आप उस समय के पत्र पढ़ते हैं, तो आप पाएंगे कि कई लोगों ने इसका विरोध किया। अब वह हमारे लिए वेद बन गया है। प्रस्तावना वेद बन गई है। लेकिन अगर हमें (प्रस्तावना) पसंद नहीं है तो हम, जो मतदाता हैं और संसद बनाते हैं, इसे बदल देंगे।”

वाइस चांसलर ने इस मामले पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है। हालांकि विश्व भारती के प्रवक्ता ने रविवार को कहा कि वीडियो में छेड़छाड़ की गयी है और इसका उद्देश्य संस्थान तथा लोगों की छवि को “खराब” करना है।

वीसी के भाषण वायरल होने के बाद इस पर विवाद शुरू हो गया। इसके बाद सुरक्षा विभाग को परिसर में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच करने और वीडियो शूट करने वाले व्यक्ति की पहचान करने के लिए कहा गया था। इतिहास विभाग में स्नातक की पढ़ाई कर रहे एक छात्र को अपने स्मार्टफोन पर वीसी के भाषण को रिकॉर्ड करते हुए देखा गया। सोमवार रात को छात्र से अधिकारियों ने पूछताछ की और हॉस्टल छोड़ने के लिए नोटिस दिया। फिलहाल वह छात्र अपने घर लौट गया है।

छात्र का कहना है कि अब वह और अधिक विवाद में नहीं पड़ना चाहता है। वहीं इस मामले पर विश्वविद्यालय के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि बीए इतिहास के छात्र बिज्जू सरकार से पुर्बापल्ली छात्रावास का कमरा खाली करने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि शुरुआती पड़ताल में यह साबित होता है कि इस छात्र ने वो वीडियो बनाया और प्रसार किया जिसमें चक्रवर्ती कथित रूप से भारतीय संविधान, संसद की सर्वोच्चता, संशोधित नागरिकता कानून पर टिप्पणी कर रहे हैं। कुलपति ने यह टिप्पणी छात्रावास में आयोजित कार्यक्रम में की थी। केंद्रीय विश्वविद्यालय के प्रॉक्टर ने मंगलवार को सरकार को एक पत्र दिया था।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]