कोरोना वायरस पर पीएम मोदी का सार्क देशों से साथ आने के किया आह्वान

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा है कि हमारी धरती कोविड-19 कोरोना वायरस से लड़ रही है। सरकार और आम लोग कई स्तर पर इससे निपटने के लिए प्रयास कर रहे हैं। दक्षिण एशिया में दुनिया की बड़ी आबादी रहती है, ऐसे में हमें अपने लोगों को स्वस्थ रखने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी चाहिए।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी विश्व नेता की छवि के मुताबिक, दक्षिण एशियाई देशों के संगठन दक्षेस (सार्क) में शामिल देशों से आह्वान करते हुए सभी आठ राष्ट्राध्यक्ष वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से जुड़कर कोरोना के खिलाफ साझी लड़ाई पर चर्चा करें। सार्क संगठन में भारत के अलावा पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, श्रीलंका और नेपाल शामिल हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने वीट कर कहा कि विश्व की बड़ी आबादी वाले क्षेत्र दक्षिण एशिया को अपने लोगों को स्वस्थ रखने की दिशा में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहिए। प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा कि मैं सार्क राष्ट्रों के नेतृत्व के सामने कोरोना वायरस से लड़ने की मजबूत रणनीति बनाने का प्रस्ताव रखता हूं। उन्होंने आगे लिखा है कि हम एकजुट होकर दुनिया के सामने एक मिसाल पेश कर सकते हैं और इसे स्वस्थ रखने में योगदान दे सकते हैं।

उन्होंने दुनियाभर में फैलते कोरोना वायरस के संक्रमण पर चिंता जाहिर करते हुए इस चुनौती से निपटने की दिशा में सरकारों एवं संगठनों के सम्मिलित प्रयासों की सराहना की। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि हमारी दुनिया कोविड- 19 नोवेल कोरोना वायरस से लड़ रही है। सरकार और लोग विभिन्न स्तर पर इससे लड़ने का सर्वोत्तम प्रयास कर रहे हैं।

सार्क देशों के कई नेताओं ने पीएम मोदी की इस पहल का स्वागत करते हुए इसका जवाब सकारात्मक दिया है। इन्हीं देशों में से एक श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने कहा है कि पीएम मोदी को इस महान पहल के लिए धन्यवाद। श्रीलंका इस चर्चा में भाग लेने के लिए तैयार है और अपने अनुभव व सीख को बांटने के लिए प्रस्तुत है। इसके अलावा अन्य सार्क सदस्यों से भी सीखने के लिए तैयार है। आइए इन कोशिशों के दौरान एकजुटता बनाएं और अपने नागरिकों को सुरक्षित रखें।

इसके अलावा नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ऑली ने कहा कि मैं कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सार्क देशों के नेतृत्व द्वारा एक मजबूत रणनीति बनाने के लिए पीएम मोदी जी द्वारा उन्नत विचार का स्वागत करता हूं। मेरी सरकार हमारे नागरिकों को इस घातक बीमारी से बचाने के लिए सार्क सदस्य राज्यों के साथ मिलकर काम करने के लिए तैयार है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]