‘मन की बात’ में मुस्लिमों से बोले पीएम मोदी – रमजान में ज्यादा करें इबादत जिससे कोरोना खत्म हो जाए

कोरोना वायरस संकट और लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरी बार मन की बात के जरिये देश को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने मुस्लिम समुदाय के लोगों को रमजान (Ramadan) के दौरान ज्यादा इबादत करने की अपील की।

रमजान का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘रमजान का भी पवित्र महीना शुरू हो गया है। किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि रमजान में इतनी बड़ी मुसीबत होगी। लेकिन जब विश्व में मुसीबत आ ही गई है तो हमें इसे सेवाभाव की मिसाल देनी है। हम पहले से ज्यादा इबादत करें कि ईद से पहले यह बीमारी खत्म हो जाए जिससे धूमधाम से ईद मनाई जा सके।’

मोदी ने आगे कहा कि रमजान के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखना है। उन्होंने कहा कि रमजान को संयम, सेवा भाव के साथ मनाना है। मोदी ने आशा जताई कि रमजान के दौरान लोग प्रशासन के दिशा-निर्देश मानेंगे।

अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा, ”देश का हर नागरिक इस लड़ाई का सिपाही और इस लड़ाई में नेतृत्वकर्ता है। इस मुश्किल वक्त में पूरा देश एक साथ चल रहा है। सभी लोग एक-दूसरे की मदद कर रहे हैं। ऐसा लग रहा है कि पूरे देश में महायज्ञ चल रहा है। कोई गरीबों को खाना खिला रहा है तो कोई जरूरतमंदों की मदद कर रहा है और मुफ्त में सब्जियां दे रहा है। लोगों की इस भावना को मेरा नमन है. कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई Public driven है”.

इसके साथ ही पीएम मोदी ने मास्क की जरूरत पर भी बात की। पीएम मोदी ने कहा कि अब मास्क जीवन का हिस्सा बन गए हैं क्योंकि खुद को सुरक्षित रखने के लिए फिलहाल मास्क बहुत महत्वपूर्ण हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE