ईसाई धर्मगुरु के जन्म दिवस पर बोले पीएम मोदी – सरकार का मार्गदर्शन करता है संविधान

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि सरकार का मार्गदर्शन भारत का संविधान करता है और इसलिए सरकार धर्म, लिंग, जाति, नस्ल या भाषा के आधार पर भेदभाव नहीं करती है।

मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शनिवार को डॉ. जोसेफ मार थोमा मेट्रोपॉलिटन के 90 वें जन्मदिन समारोह को संबोधित करते हुए कहा, भारत सरकार धर्म, लिंग, जाति, पंथ या भाषा के बीच भेदभाव नहीं करती है। हम 130 करोड़ भारतवासियों को मजबूत बनाने की इच्छा से निर्देशित हैं और हमारा मार्गदर्शक प्रकाश भारत का संविधान है।

प्रधानमंत्री ने इस दौरान कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई की चर्चा करते हुए कहा कि अब तक देश में इस लड़ाई ने अच्छे परिणाम दिए हैं। उन्होंने कहा, ‘हमने दिल्ली में आरामदायक सरकारी कार्यालयों से फैसले नहीं लिए, बल्कि जमीनी स्तर पर लोगों से प्रतिक्रिया लेने के बाद निर्णय किए हैं।’

मोदी ने कहा कि राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन, लोगों द्वारा लड़ी गई लड़ाई और सरकार द्वारा शुरू की गई कई पहलों की वजह से भारत कई राष्ट्रों के मुकाबले बेहतर स्थिति में है। उन्होंने कहा कि भारत में कोरोना संक्रमण से उबरने की दर बढ़ रही है। लोगों द्वारा लड़ी गई लड़ाई ने अब तक अच्छे परिणाम दिए हैं लेकिन आगाह किया कि लोगों को इस खतरे के प्रति लापरवाह नहीं होना चाहिए।

उन्होंने कहा, क्या हम सावधानियों को कम कर सकते हैं? बिल्कुल नहीं। हमें अब और अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। मास्क पहनना, सामाजिक दूरी, दो गज की दूरी, भीड़ भरे स्थानों से बचने की जरूरत है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE