प्लाज्मा दान कर रहे तबलीगी सोशल मीडिया पर बने विलन से सुपर हीरो

ऐसे समय में जब दिल्ली सरकार कंवलसेंट प्लाज्मा थेरेपी के लिए दानदाताओं को खोजने के लिए संघर्ष कर रही है (जो कोविड -19 की लड़ाई लड़ने में उम्मीद की एक किरण लगती है), सीएम अरविंद केजरीवाल ने सभी लोगों से अपील की है, चाहे वे किसी भी धर्म से हों, जो कोरोनोवायरस बीमारी से ठीक हो चुके है। वे अब कोविड -19 रोगियों के लिए प्लाज्मा दान करें।

तब्लीगी जमात के सदस्य ऐसे रोगियों के लिए आशा की किरण बन गए हैं। एक बार मीडिया के एक हिस्से द्वारा  सुपर स्प्रेडर्स के रूप में करार दिए जाने के बाद, कोविड -19 से प्रभावित गंभीर रूप से बीमार रोगियों के लिए ‘सुपर सेवर्स’ बन गए हैं।

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया है कि दिल्ली के अस्पतालों में 1,068 तब्लीगी कोरोनावायरस से पॉजिटिव  है। जिसमे लगभग 300 (जो डबल नेगेटिव परीक्षण के बाद बरामद हुए हैं) ने राजधानी में गंभीर रूप से बीमार रोगियों को प्लाज्मा दान करने का फैसला किया है।

बता दें कि कुछ दिन पहले ही निज़ामुद्दीन मरकज मामले के सामने आने के बाद देश भर में तबलीगी समुदाय के लोगों को कोरोना फैलाने के जिम्मेदार बताया गया था। हालांकि अब तब्लीगी सदस्यों द्वारा प्लाज़मा की पेशकश निश्चित रूप से तब्लीगी लोगों के बारे में हिंदू जनता की धारणाओं को बदल देगी।

इन तब्लीगी सदस्यों को सोशल मीडिया पर वाहवाही मिल रही है और लोग उन्हें ‘सुपर सेवर्स’ और ‘सुपर हीरोज’ कह रहे हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE