“युसुफ हामिद” की फार्मा कंपनी सिप्ला ने कोरोना संकट में दिया तीन करोड़ रुपए का दान

मुंबई। कोरोना संकट से निपटने के लिए “युसुफ हामिद” की बहुराष्ट्रीय दवा कंपनी सिप्ला ने महाराष्ट्र राज्य आपदा प्रबंधन कोष में तीन करोड़ रुपये का दान दिया है। कंपनी के सीईओ निखिल चोपड़ा ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को शनिवार को तीन करोड़ रुपये चेक सौंपा।

इस दौरान चोपड़ा ने कोरोना के संबंध में किए जा रहे कार्यों की जानकारी भी मुख्यमंत्री को दी। उन्होंने कहा कि इस पूरे कोरोना संकट के दौरान, दवा निर्माण करनेवाली कंपनियों और राज्य सरकार के तालमेल के बीच कोरोना मरीजों के लिए उपयोगी और जीवनरक्षक दवाओं की आपूर्ति को बनाए रखा जा सकेगा।

हाल ही में सिप्ला (Cipla) ने कोरोना वायरस के इलाज में कारगर साबित हो रही रेमडेसिवीर का जेनरिक वर्जन सस्ते दाम पर उपलब्ध कराया है। सिप्ला (Cipla) ने रेमडेसिवीर (Remdesivir) की जेनरिक वर्जन सिप्रेमी (Cipremi) को लॉन्च किया।

सिप्ला ने सिप्रेमी की कीमत 4,000 प्रति 100 mg वाइल (शीशी) रखी है, जो दुनिया भर में कोरोना वायरस के इलाज में इस्तेमाल हो रही दवाओं से काफी कम है। सिप्ला ने इस मामले में पहले ही साफ कर दिया था कि इस दवा की कीमत 5 हजार रुपये से ज्यादा नहीं रखी जाएगी।

बता दें कि युसूफ हामिद सिप्ला कंपनी के मालिक हैं और भारत के सबसे अमीर मुसलमानों में शामिल है। इतना ही नहीं हामिद का नाम लंबे समय से फोर्ब्‍स की टॉप रईसों की भारतीय लिस्‍ट में भी है। यूसुफ की कुल संपत्ति 2.6 बिलीयन डॉलर है। हामिद जाने माने भारतीय वैज्ञानिक भी हैं। उनका जन्म मुंबई में हुई था। उन्हें 2005 में भारत सरकार ने देश का तीसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म भूषण से सम्मानित किया था।

 


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE