बीजेपी से जुड़ने वाले को नहीं माना जाएगा मुसलमान: बंगाल इमाम एसोसिएशन

कोलकाता: पश्चिम बंगाल (West Bengal) में ‘बंगाल इमाम एसोसिएशन’ ने ऐलान किया कि जो भी मुस्लिम बीजेपी से जुड़ेंगे, उन्हें मुसलमान नहीं माना जाएगा।

एसोसिएशन के चीफ मोहम्मद याहिया ने कहा कि  बीजेपी और आरएसएस मुस्लिम विरोधी हैं। जो भी मुसलमान बीजेपी से जुड़ते हैं उन्हें ध्यान रखना होगा कि कल आवाज उनके खिलाफ भी उठेगी। अगर कोई मुसलमान बीजेपी ज्वाइन करेगा तो उसे मुसलमान नहीं माना जाएगा।

शनिवार को पत्र लिखकर उन्होने अयोध्या में बीते 5 अगस्त को हुए श्री राम मंदिर भूमि पूजन का भी विरोध किया। उन्होने कहा कि जब एक पुजारी और उसका साथी कोरोना पॉजिटव पाया जा चुका था तो प्रधानमंत्री वहां क्यों गए। कोरोना फैलने के कारण जब तबलीगी जमात के खिलाफ एक्शन लिया गया तो अयोध्या में कार्यक्रम कैसे हुआ।

एसोसिएशन ने इस पत्र के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा है कि वो संविधान के सामने झुकते हैं। लेकिन भूमि पूजन में जाकर उसी संविधान का अपमान कर रहे हैं। इमाम मोहम्मद याहिया ने ये भी कहा कि बीजेपी और आरएसएस ने हिंदू धर्म को हाईजैक करके अलग से अपना धर्म बना लिया है, वो हिंदुओं को मूर्ख बना रहे हैं

आरएसएस की पश्चिम बंगाल इकाई के सचिव जिष्णु बसु ने कहा कि बंगाल का मुस्लिम समुदाय बेवकूफ नहीं है। हमने दशकों से देखा है कि जो भी राजनीतिक दल सत्ता में आया, उसने ही मुसलमानों को धोखा दिया। उन्होंने कहा कि हम पश्चिम बंगाल में अपने बच्चों के लिए अच्छी शिक्षा, रोजगार और विकास चाहते हैं। लेकिन किसी भी राजनीतिक दल ने हमारी जरूरतों को पूरा करने की कोशिश नहीं की। इसलिए हम चाहते हैं कि मुसलमान समझें कि वो किसका सपोर्ट कर रहे हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE