Home राष्ट्रिय आतंकी हमलों से ज्यादा सड़क पर गड्ढों से जा रही लोगों की...

आतंकी हमलों से ज्यादा सड़क पर गड्ढों से जा रही लोगों की जान: सुप्रीम कोर्ट

3291
SHARE

देश में सड़क पर गड्ढों के चलते हादसों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि देश में हर साल जितने लोग आतंकी हमलों में नहीं मारे जाते उनसे कहीं ज्यादा लोगों की जान सड़क पर गड्ढों से जा रही हैं।

बता दें कि 2017 में इन गड्ढों के चलते 3597 की मौत हुई यानी हर दिन औसतन 10 लोगों को गड्ढों के चलते अपनी जान गंवानी पड़ी। 2016 की तुलना में यह आंकड़ा 50 फीसदी ज्यादा है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रिपोर्ट के मुताबिक, 2017 में गड्ढों के चलते सबसे ज्यादा मौतें उत्तर प्रदेश (987) में हुईं जबकि 2016 में यह आंकड़ा 714 था। वहीं महाराष्ट्र में 726 लोगों को सड़क पर गड्ढे होने की वजह से अपनी जान गंवानी पड़ी। 2016 की तुलना में महाराष्ट्र में गड्ढों के चलते होने वाली मौतों का यह आंकड़ा दोगुना है। 2016 में 329 लोगों की मौत गड्ढों के चलते हुए हादसों में हुई थी।

कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा कि यह गंभीर मुद्दा है और जो लोग सिर्फ गड्ढों की वजह से अपनी जान गवां रहे हैं उन्हें मुआवजा पाने का हकदार हैं। कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट की रोड सेफ्टी कमेटी को ये देखने को भी कहा कि क्या गड्ढों की वजह से एक्सीडेंट में जान गवांने वाले लोगों को मुआवजा दिया जा सकता है या नही।

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में समिति को सड़क सुरक्षा पर दो सप्ताह के भीतर पर विस्तृत रिपोर्ट पेश करने को कहा। सड़कों पर गड्ढों का मुद्दा शीर्ष अदालत की पीठ के सामने तब आया जब पूरे देश में सड़क सुरक्षा से संबंधित मामले सामने आ रहे थे।

Loading...