कुर्बानी को लेकर चल रही ऑनलाइन ठगी, साइबर सेल ने दी मुस्लिमों को चेतावनी

कोरोना महामारी के बीच जारी लॉकडाउन ईद उल अज़हा पर कुर्बानी में बड़ी बाधा बन रहा है। ऐसे में मुस्लिमों ने आउटसोर्स कुर्बानी के जरिये जानवरों की कुर्बानी कराने का फैसला किया है। लेकिन इसमे भी ऑनलाइन ठगी शुरू हो गई है। ऐसे में अब साइबर सेल ने चेतावनी जारी की है।

पुलिस और साइबर अपराध विभाग के अधिकारियों ने नागरिकों को धोखेबाजों से सावधान रहने की चेतावनी नहीं दी है। उन्होंने पूरी जांच-पड़ताल के बाद ही उन्हें नकद लेन-देन करने की सलाह दी। दरअसल, जानवरों के चित्रों और वीडियो के साथ कई आकर्षक ऑफ़र सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर प्रसारित किए जा रहे हैं। लेकिन ये असल नहीं होते है।

ऑनलाइन जानवरों की खरीद का चलन तो पहले से है, लेकिन अब ऑनलाइन कुर्बानी का ट्रेंड इस बार बढ़ा है। लोग सुन्नतेइब्राहिम डॉट कॉम, चैरिटी एलाएंस डॉट इन समेत अनेक साइट पर जाकर ऑनलाइन कुर्बानी के लिए पैसा देकर बुकिंग करा रहे हैं। इसमें कुर्बानी के समय व्यक्ति की उपस्थिति अनिवार्य नहीं होती है।

दावा है कि लोग कुर्बानी कर इसका मीट गरीबों में स्वयं बाट देते हैं। जानवरों की ऑनलाइन खरीदारी इंडिया मार्ट, पशुबाजार डॉट कॉम जैसी अनेक साइट और ऑनलाइन कंपनियां से होती रही हैं। इसके अलावा जिंदा बकरे भी ऑनलाइन बिक रहे है।

बकरा विक्रेता रहीम ने बताया कि तोतापरी व अजमेरी समेत कई किस्म के 530 बकरे मंगाए थे। बाजार नहीं लग रहा है इसलिए कुछ लड़कों ने ऑनलाइन बेचने की सलाह दी। सिर्फ चार दिन में ही 250 बकरे बिक गए हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE