गुर्जर आंदोलन की आहट पर चौकन्नी हुई गहलोत सरकार, 8 जिलों लगाया रासुका

गुर्जर आरक्षण को लेकर आंदोलन की चिंगारी (Gurjar agitation rajasthan) एक बार फिर से बड़ा शोला बन सकती है। ऐसे में राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने राज्य के 8 जिलों में रासुका (NSA) लगा दिया है।

बता दें कि गुर्जर समाज की ओर से एमबीसी के तहत आरक्षण लागू करने की मांग की जा रही है। गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के प्रमुख कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने शुक्रवार को प्रदेशभर में 1 नवंबर से आंदोलन का ऐलान किया है। बैंसला ने शुक्रवार को आह्वान किया कि एक नवंबर को गुर्जर समाज के लोग पीलूकापुरा में पहुंचें।

जिसके बाद गृह विभाग ने रासुका (NSA) लगाने के सबंध में शनिवार को अधिसूचना जारी कर दी। अधिसूचना की तिथि से आगामी 3 महीने तक आदेश प्रभावी रहेगा। गृह विभाग के आदेश के बाद कोटा, बूंदी, झालावाड़, करौली, धौलपुर, भरतपुर, टोंक समेत अन्य गुर्जर बाहुल्य जिलों के कलेक्टर्स को अतिरिक्त शक्तियां मिल गई हैं।

वहीं, भरतपुर, दौसा, करौली जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई। इसके अलावा जयपुर जिले की पांच तहसीलों में भी संभागीय आयुक्त ने शुक्रवार को एक आदेश जारी कर इंटरनेट सेवाएं बंद करने का आदेश जारी कर दिया।

इसी बीच गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति में शामिल 40 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार रात को सरकार से वार्ता के लिए तैयार हो गया। यह प्रतिनिधिमंडल बयाना के एसडीएम के साथ जयपुर पहुंचा। देर रात तक सरकार के प्रतिनिधियों के साथ निर्णायक वार्ता चलेगी।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE