संसद में बोली मोदी सरकार – हमारे पास नहीं ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ की कोई आधिकारिक जानकारी

बीजेपी और संघ परिवार की और से लगातार ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ को लेकर कहा जा रहा था। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह सहित कई भाजपा नेता चुनावी रैली व अन्य सभाओं में खुलेआम ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ का नाम लेकर अपने विरोधियों पर निशाना साधते हैं।

लेकिन अब मोदी सरकार ने कहा है देश के किसी भी हिस्से में किसी ‘टुकड़े टुकड़े गैंग’ नामक कोई संगठन नहीं है और इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। लोकसभा में मंगलवार को टुकड़े टुकड़े गैंग से संबंधित कांग्रेस के जसबीर सिंह और विंसेंट एच पाला ने एक तारांकित सवाल पूछा जिसका गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने लिखित में जवाब दिया।

श्री गिल और श्री पाला ने इससे संबंधित श्री रेड्डी से चार सवाल पूछे है। उन्होंने पूछा कि क्या गृह मंत्रालय, राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) या किसी केंद्रीय/राज्य विधि प्रवर्तन एजेंसी/पुलिस बल या किसी केंद्रीय या राज्य खुफिया संगठनों ने टुकड़े टुकड़े गैंग नामक एक संगठन की पहचान की है और इसे सूचीबद्ध किया है।

जिस पर गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि मंत्रालय के पास इस गैंग के संबंध में भी अधिकारिक जानकारी नहीं है। इतना ही नहीं मंत्रालय यह भी नहीं जानता कि यह नाम (टुकड़े-टुकड़े गैंग) कानून प्रवर्तन एजेंसियों द्वारा दिए गए इनपुट पर आधारित है या नहीं। उन्होंने स्पष्ट किया कि किसी भी कानून प्रवर्तन एजेंसी द्वारा ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ से संबंधित कोई भी जानकारी सरकार में ध्यान में नहीं लाई गई है।

इससे पहले RTI कार्यकर्ता साकेत गोखले ने दिसंबर में गृह मंत्रालय में आवेदन दाखिल कर ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ के संबंध में पूरी जानकारी मांगी थी। मंत्रालय की ओर से 20 जनवरी को दिए गए जवाब में कहा गया था कि मंत्रालय को इस गैंग के संबंध में कोई जानकारी प्राप्त नहीं है।

उस दौरान कार्यकर्ता ने प्रधानमंत्री मोदी व गृहमंत्री अमित शाह द्वारा सभाओं में इस गैंग का उल्लेख करने को लेकर चुनाव आयोग में शिकायत करने की बात कही थी।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE