प्र‍िंस चार्ल्‍स ने मोदी के मंत्री के दावे को बताया झूठ – आयुर्वेद से ठीक हुआ कोरोना संक्रमण

केन्द्रीय आयुष मंत्री श्रीपद येसो नाइक ने बड़ा दावा करते हुए कहा, ‘बेंगलुरु के एक आयुर्वेदिक डॉक्टर ने मुझे फोन करके बताया कि उनके फॉर्मूले से प्रिंस चार्ल्स कोरोना वायरस संक्रमण से उबरे। हालांकि प्रिंस चार्ल्स की प्रवक्ता ने उनके इस दावे को नकारते हुए कहा है कि चार्ल्स ने सिर्फ ब्रिटिश नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) की चिकित्सीय सलाह मानी और कुछ नहीं।

दरअसल, केंद्रीय आयुष राज्यमंत्री श्रीपद नाइक ने बृहस्पतिवार को पने निजी आवास पर एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा, बंगलूरू में आयुर्वेदिक डॉक्टर मथाई हैं, जो सौख्य नाम से एक आयुर्वेद रिसोर्ट चलाते हैं। डॉ. मथाई ने मुझे फोन कर बताया कि ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स का कोरोना वायरस संक्रमण उनकी दवाई से सही हुआ है। यह दवाई आयुर्वेद और होम्योपैथी का मिश्रण है। नाइक का कहना है कि यह दिखाता है कि आयुर्वेद और होम्योपैथिक दवाएं किस तरह कोरोना वायरस के उपचार में कारगर हैं।

इस पर प्रिंस चार्ल्स की प्रवक्ता एला लिंच ने द इंडियन एक्सप्रेस को भेजे मेले में कहा कि प्रिंस चार्ल्स के आयुर्वेद से ठीक होने की जानकारी गलत है। गौरतलब है कि गुरुवार को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी प्रिंस चार्ल्स से फोन पर बात की थी। पीएम ने प्रिंस को खुद ही संक्रमण से उबरने पर बधाई देते हुए उन्हें बेहतर स्वास्थ्य की शुभकामनाएं दी थीं।

विदेश मंत्रालय ने इसके बाद बयान जारी कर कहा था कि प्रधानमंत्री ने प्रिंस को उनकी आयुर्वेद में रुचि के लिए शुक्रिया कहा। मोदी ने प्रिंस को योगा वीडियो के जरिए इम्युनिटी बढ़ाने की भी जानकारी दी थी। प्रिंस ने भी स्वास्थ्य और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले इन तरीकों की तारीफ की थी। उन्होंने एनएचएस में सेवा दे रहे भारतीय मूल के लोगों की भी तारीफ की थी।

दुनियाभर में 15 दिनों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले 5 गुना बढ़े जिसके बाद इनकी संख्या 10 लाख से अधिक हो गई है। वहीं, दुनियाभर में अब तक 181 देशों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है और सर्वाधिक मामले (2.4 लाख से अधिक) अमेरिका में सामने आए हैं। इतना सब होने के बावजूद अभी तक दुनिया भर के वैज्ञानिक इस बीमारी का कारगर इलाज नहीं ढूंढ पाए हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE