NIA ने केरल सोने की तस्करी मामले में PFI कार्यकर्ता पर जताया शक

केरल सोना तस्करी मामले के तार पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (Popular Front of India) से जोड़े जा रहे है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (National Investigation Agency) द्वारा छह और आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद मामले में PFI कार्यकर्ता के शामिल होने पर शक जताया जा रहा है।

इस मामले में केंद्रीय एजेंसी अब तक 10 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। एनआईए प्रवक्ता ने कहा कि गिरफ्तार आरोपी रमीस केटी के साथ साजिश रचने के मामले में 30 जुलाई को दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। इनमें एर्नाकुलम के जलाल एएम और मालापुरम के सईद अलवी ई का नाम शामिल है।।

उन्होंने कहा कि 31 जुलाई को मामले में दो और आरोपियों को गिरफ्तार किया गया, जिनमें मालापुरम निवासी मोहम्मद शफी पी और अब्दु पीटी शामिल हैं। प्रवक्ता ने बताया कि एनआईए ने एक अगस्त को दो और लोगों को गिरफ्तार किया, जिनमें एर्नाकुलम निवासी मुहम्मद अली इब्राहिम तथा मुहम्मद अली हैं।

अधिकारी ने कहा कि मुहम्मद अली पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) का सदस्य है। केरल पुलिस ने पहले उसके खिलाफ एक प्रोफेसर की हथेली काटने के मामले में आरोप पत्र दाखिल किया था, लेकिन 2015 में मुकदमे के बाद वह बरी हो गया था।

मामले में रविवार को छह स्थानों पर छापेमारी की गई थी। इस दौरान दो हार्ड डिस्क, एक टैबलेट कंप्यूटर, आठ मोबाइल फोन, छह सिम कार्ड, एक डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर व पांच डीवीडी जब्त की गईं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE