Home राष्ट्रिय पेट्रोल-डीजल के दामों ने छुआ आसमान, मोदी सरकार ने तोड़े सारे रिकॉर्ड

पेट्रोल-डीजल के दामों ने छुआ आसमान, मोदी सरकार ने तोड़े सारे रिकॉर्ड

218
SHARE

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के बाद से लगातार पेट्रोलियम कंपनियां पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी कर रही है. जिसका नतीजा है कि पिछले चार हफ्तों में कीमतों से सभी रिकॉर्ड को तोड़ते हुए आसमान छू लिया है.

रविवार को दिल्ली में पेट्रोल के दाम 33 पैसे महंगा होते हुए 76.24 रुपये प्रति लीटर की रिकार्ड ऊंचाई पर पहुंच गए. वहीं डीजल 67.57 रुपये प्रति लीटर हो गया है जो इसका अब तक उच्चतम स्तर है. वहीँ  मुंबई में पेट्रोल की कीमत सबसे अधिक है. यहां स्थानीय टैक्स मिलाकर  84.07 रुपये में पेट्रोल मिल रहा है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीं, डीजल सबसे महंगा हैदराबाद में 73.45 रुपये प्रति लीटर है. जिन अन्य शहरों में यह 70 रुपये प्रति लीटर से अधिक महंगा है उनमें त्रिवेंद्रम (73.34 रुपये), रायपुर (72.96 रुपये), गांधीनगर (72.63 रुपये), भुवनेश्वर (72.43 रुपये), पटना (72.24 रुपये), जयपुर (71.97 रुपये), रांची (71.35 रुपये), भोपाल (71.12 रुपये) तथा श्रीनगर (70.96 रुपये) है.

दूसरी ओर सरकार की ओर से भी इस पर कोई राहत देने के संकेत नहीं मिलते. केंद्र सरकार ने शुक्रवार को इस बात के संकेत दिए कि वह फिलहाल डीजल और पेट्रोल पर ड्यूटी कम करने नहीं जा रही है. आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने पत्रकारों से कहा, ‘यदि इंटरनैशन मार्केट में कीमतों में इजाफा होता है तो निश्चित तौर पर इंपोर्ट बिल पर भी इसका असर पड़ेगा.’

बता दें कि कर्नाटक चुनाव को देखते हुए तेल कंपनियों ने 19 दिनों तक प्राइज रिविजन नहीं किया था. 14 मई से दोबारा प्राइज रिविजन शुरू होने के बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतें लगातार सात दिनों तक बढ़ी हैं. सात दिनों में पेट्रोल के दाम कुल 1.61 रुपये और डीजल के दाम कुल 1.64 रुपये बढ़े हैं.

Loading...