Home राष्ट्रिय देश की राजधानी भी मुस्लिमों के लिए सुरक्षित नहीं, मौलाना से मारपीट...

देश की राजधानी भी मुस्लिमों के लिए सुरक्षित नहीं, मौलाना से मारपीट कर लगवाए जबरन नारे

97
SHARE

केंद्र में भगवा सत्ता आने के साथ ही देश में मुस्लिमों के साथ हिंसा का जो सिलसिला शुरू हुआ है. वह रुकने का नाम नहीं ले रहा है. पहले ग्रामीण और दूरदराज क्षेत्रों में ऐसी घटनाए देखने को मिल रही थी. लेकिन अब तो मुस्लिमों के लिए देश की राजधानी भी सुरक्षित नहीं है.

दरअसल, दिल्ली में रविवार को बवाना जेजे कालोनी बी ब्लाक की मस्जिद अबू बकर सिद्दीक के इमाम मौलाना मोहम्मद आफताब के साथ मारपीट कर जबरन नारे लगवाने का मामला सामने आया है.

मौलाना मोहम्मद आफताब के साथ घर लौटते समय डीटीसी बस में मौजूद कुछ लोगों ने न सिर्फ मारपीट की, बल्कि उनकी दाढ़ी पकड़ कर खींचते हुए विवादित नारा लगवाने पर मजबूर भी किया. उक्त मामला ऐसे समय का है जब बस में काफी यात्री मौजूद थे, एक शख्स के अलावा किसी ने इसका विरोध नहीं किया.

मौलाना आफताब ने बताया कि उन्होंने डर जाने के कारण मजबूरन नारा लागाये और जैसा उन लोगों ने कहा वैसा ही कह दिया. उसके बाद यह लोग प्रहलादपूर बस स्टैंड पर उतर गए और उनके उतरते ही मौलाना ने 100 नंबर पर काल की. मगर काफी इंतज़ार के बाद भी कोई नहीं आया, वहीं बस वाले भी उनके साथ बवाना चौक पर खड़े रहे.

उन्होंने अपने एक जानने वाले डॉक्टर एहतशाम अनवर को फोन किया जिन्होंने आला पुलिस अधिकारी से बात की और फिर कहीं जाकर पुलिस पहुंची और मौलाना का बयान दर्ज किया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...