मुस्लिम युवक ने 8 घंटे में बनाई ऑटोमेटिक सैनिटाइजिंग मशीन, कर दी अस्पताल को दान

मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले के नाहरू खान (Nahru Khan) ने कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए ऑटोमेटिक सैनिटाइजर मशीन बनाकर अस्पताल को दान कर दी।

जानकारी के अनुसार, उन्होंने यूट्यूब पर वीडियो देख 48 घंटे के अंदर फुल ऑटोमेटिक सैनिटाइजिंग मशीन बनाई है। जिसकी कीमत करीब डेढ़ लाख रुपये है। उनका कहना है कि मैंने यह मशीन यूट्यूब देखकर बनाया है। इसे बनाने में मुझे 48 घंटे लगे। उन्होंने बताया कि इससे कोविड -19 (COVID-19) महामारी से लड़ने में मदद मिलेगी।

बता दें कि अभी तक मंदसौर जिले के अस्पताल में लोग सैनेटाइजर के जरिए ही हाथ साफ करते थे। नाहरू खान की ओर से बनाई गई इस मशीन में एक टनल बनी है। सैनिटाइज होने के लिए व्यक्ति को इस टनल से गुजरना होता है। इसके अंदर 6 स्प्रे लगे हैं, जो अंदर आते ही शुरू हो जाते हैं। पूरी तरह से व्यक्ति के शरीर पर सैनिटाइजर का छिड़काव करने के बाद ये स्प्रे बाहर निकलने ही ऑटोमेटिक बंद हो जाते हैं।

इस मशीन में 100 लीटर सैनिटाइजर का टैंक लगा हुआ है। ये मशीन करीब 250 से 350 लोगों पर स्प्रे कर सकती है। मशीन से निकलना सैनिटाइजर एक ट्रे में स्टोर होता है। सैनिटाइजर मशीन से एक मिनट में करीब 15 लोग गुजर सकते हैं। इस मशीन से गुजरने के बाद व्यक्ति के कपड़े या सामान भी खराब नहीं होते हैं।

निर्माता N.K इंजीनियरिंग मंदसौर मध्य प्रदेश में सेनीटाइजर मशीन नहारु फोरमैन साहब की तरफ से जिला चिकित्सालय मंदसौर में लगाई गई

Posted by Rizwan Mirza on Saturday, April 4, 2020

वहीं, नाहरू खान की इस खोज पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें सलाम किया है। सीएम ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘मानवता के कल्याण का भाव और इच्छाशक्ति होती है, तो रचनात्मकता स्वयमेव आ जाती है। नाहरू खान जी, कोविड-19 के विरुद्ध युद्ध में आपके इस रचनात्मक सहयोग के लिए आभारी हूं, आपके जज्बे को सलाम।’

नाहरू खान इससे पहले भी कई उपकरण बनाकर दान कर चुके हैं। उन्होंने पशुपति नाथ मंदिर और नालछा माता मंदिर में एक ऑटोमेटिक जनरेटर दान किया था। इसका इस्तेमाल मंदिर प्रशासन की ओर से किया जा रहा है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE