भड़काऊ टिप्पणी मामले में अर्णब गोस्वामी से मुंबई पुलिस ने की लंबी पूछताछ

मुंबई पुलिस ने कथित भड़काऊ टिप्पणी से जुड़े एक मामले में रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्णब गोस्वामी से बुधवार को लंबी पूछताछ की। गोस्वामी दोपहर करीब दो बजे एनएम जोशी मार्ग पुलिस थाना पहुंचे और उनसे करीब दो घंटे तक पूछताछ की गई।

पुलिस अधिकारियों ने पहले रिपब्लिक टीवी के मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) एस सुंदरम से पूछताछ की। इस दौरान गोस्वामी ने उनके खिलाफ राजनीतिक प्रतिशोध से कार्रवाई किए जाने और मुम्बई पुलिस द्वारा मीडिया से जुड़े उनके कार्यों में जानबूझ कर व्यवधान डालने का आरोप लगाया तथा मीडिया बिरादरी से एकजुट होने की अपील की।

उन्होंने कहा, ‘सच्चाई मेरे साथ है। हम जीतेंगे। मैंने मुम्बई पुलिस के सामने तथ्य रखे हैं। उसने मुझसे कहा कि वह मुझे पूछताछ के लिए फिर बुला सकती है।’ बता दें कि पायधुनी पुलिस ने अर्णब गोस्वामी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 153, 153 A, 295 A, 500, 505 (2), 511 और 120 (B) के तहत मामला दर्ज किया है।

रज़ा एजुकेशनल वेलफेयर सोसाइटी के सचिव इरफ़ान अबुबकर शेख ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया था कि गोस्वामी अपने टेलीविज़न शो के माध्यम से देश के सांप्रदायिक सौहार्द (communal harmony) को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

गोस्वामी ने पत्रकारों से कहा कि जब मैं उनके सामने साबित करने लगा कि मेरे खिलाफ पूरा मामला मनगढंत है और (शो के) वीडियो क्लिप को संपादित किया गया है तथा उसे संदर्भ से परे रखकर पेश किया गया है, तब जांच अधिकारी ने कहा कि वह बाद में मुझे पूछताछ के लिए बुलाएंगे।

उन्होंने कहा कि मैंने उनसे कहा कि मौजूदा कोरोना वायरस के हालात के दौरान मेरे लिए (स्वास्थ्य जोखिम) पैदा करना ठीक नहीं है। जब उनसे पूछा गया कि उनका अगला कदम क्या होगा, तो उन्होंने कहा कि हम अदालत में लड़ेंगे। गोस्वामी से दो घंटे तक और उनके सीएफओ से छह घंटे तक पूछताछ की गयी।

गोस्वामी ने कहा कि यह स्पष्ट रूप से और खुल्लमखुल्ला राजनीतिक प्रतिशोध है. वाड्रा कांग्रेस धड़ल्ले से मुंबई पुलिस का दुरुपयोग कर रही है, लेकिन हमेशा की तरह वह विफल होगी। उन्होंने कहा कि पालघर और बांद्रा प्रवासियों के प्रदर्शन की कवरेज को लेकर मैं अपनी बात पर अडिग हूं। नये भारत में न्यू मीडिया मजबूत हो रहा है. यह लुटियंस ब्रिगेड के आत्मावलोकन करने का वक्त है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE