पालघर मामले में अर्णब गोस्वामी से मुंबई पुलिस ने की 12 घंटे पूछताछ

महाराष्ट्र के पालघर में भीड़ द्वारा तीन साधुओं की पीट-पीट कर ह’त्या को सांप्रदायिक रंग देने के मामले में संपादक अर्णब गोस्वामी से मुंबई के एनएम जोशी मार्ग पुलिस स्टेशन में 12 घंटे पूछताछ की गई। इस दौरान उनके वकील भी उनके साथ थे।

बता दें कि इस संबंध में नागपुर में गोस्वामी के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी। बाद में यह केस मुंबई ट्रांसफर कर दिया गया था। इस संबंध में नागपुर में गोस्वामी के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई थी। बाद में यह केस मुंबई ट्रांसफर कर दिया गया था।

पुलिस थाने के बाहर आने के बाद गोस्वामी ने दावा किया कि कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ टिप्पणी के मामले में उनसे 12 घंटे से ज्यादा पूछताछ की गई। गोस्वामी ने पत्रकारों से कहा कि वह सोनिया गांधी के खिलाफ की गई टिप्पणी पर कायम है और उन्होंने जो भी कहा बिल्कुल सही है।

गोस्वामी ने कहा कि उन्होंने पुलिस के समक्ष अपना पक्ष रखा और वे उससे पूरी तरह से संतुष्ट थे। उन्होंने बताया कि रविवार को पुलिस ने उन्हें नोटिस भेज सोमवार की सुबह पूछताछ के लिए तलब किया था। गोस्वामी ने कहा, ‘तथ्य और सबूत पेश कर दिए हैं और सच सामने आएगा।’

पुलिस उपायुक्त (जोन-3) अविनाश कुमार ने कहा, ‘हमने उनका बयान दर्ज किया है और आगे की जांच जारी है।’ बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को गोस्वामी को इस मामले में तीन हफ्ते के लिए किसी भी कार्रवाई से संरक्षण दिया था। इसके साथ ही नागपुर में दर्ज मामले को छोड़कर इसी संबंध में दर्ज मामलों में कार्रवाई पर रोक लगा दी थी।

नागपुर में महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने अर्णब के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई की थी, जिसमें पालघर की घटना के संबंध में उनके शो सोनिया गांधी पर दिए उनके बयानों का जिक्र था।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE