थाली के साथ सड़कों पर निकले लोग तो बोले मोदी – राज्य सरकारें करवाएं कानूनों का पालन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा जनता कर्फ़्यू के दौरान अपील की थी कि जो लोग कोरोना वायरस जैसी आपदा में काम कर रहे हैं, उनके समर्थन के लिए अपने घरों के बाहर खड़े होकर ताली और थाली बजाएं। लेकिन लोग थाली के साथ ही सड़कों पर उतर आए और जुलूस निकाल दिया।

ऐसे में पीएम मोदी ने एक बार फिर अपील की है कि लोग सतर्कता बरतें। उन्होंने ट्विटर पर कहा,’ लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें। राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं।’

इस बीच अब लॉकडाउन को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन का बयान सामने आया है। WHO का कहना है कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सिर्फ लॉकडाउन ही काफी नहीं है। WHO के माइक रायन ने अपने एक बयान में कहा है कि सिर्फ लॉकडाउन ही कोरोना को रोकने के लिए काफी नहीं है, इस वक्त जरूरत है कि जो लोग बीमार हैं और इससे पीड़ित हैं उन्हें ढूंढा जाए और निगरानी में रखा जाए। तभी इसको रोका जा सकता है।

उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के साथ सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि जब ये खत्म होगा तो लोग अचानक बड़ी संख्या में बाहर निकलेंगे और फिर खतरा बढ़ जाएगा। माइक रायन ने कहा कि चीन, सिंगापुर और साउथ कोरिया ने जब लॉकडाउन किया तो उन्होंने उस हर व्यक्ति की जांच की, जिसपर कोरोना वायरस का खतरा था। अब यूरोप, अमेरिका और अन्य देशों को भी यही मॉडल लागू करना चाहिए। अगर एक बार इसे फैलने से रोक दिया जाए तो बीमारी से निपटा जा सकता है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]