पंजाब के मोगा में सरकारी कार्यालय पर तिरंगा उतार खालिस्‍तानी झंडा फहराया गया

स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले शुक्रवार को पंजाब के मोगा में डीसी कार्यालय के ऊपर खालिस्‍तानी झंडा फहराने का मामला सामने आया है। दो लोगों ने मोगा जिला प्रशासन कॉम्प्लेक्स के छत पर केसरी रंग का झंडा फहराया, जिसपर खालिस्तान लिखा था।

इतना ही नहीं दोनों ने जाते वक्त DC ऑफिस के बाहर लगे राष्ट्रीय ध्वज की रस्सी काट दी, जिससे तिरंगा नीचे गिर गया।इस घटना से पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया। पुलिस ने अज्ञात युवकों के खिलाफ देशद्रोह समेत विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है।

अमर उजाला के अनुसार, शुक्रवार सुबह करीब सवा सात बजे तीन युवक मोटरसाइकिल पर प्रबंधकीय कांप्लेक्स में पहुंचे। एक युवक गेट के पास मोटरसाइकिल स्टार्ट करके खड़ा रहा। दो युवक कांप्लेक्स के अंदर घुसे और डीसी कार्यालय के सामने चंद मिनट पहले फहराए तिरंगे को उतराने लगे। इस दौरान जब कांप्लेक्स में बने साइकिल स्टैंड के एक कर्मी ने विरोध किया तो उन्होंने उसे धमकाकर भगा दिया। तिरंगा चोरी करने के बाद दोनों युवक डीसी कार्यालय की चौथी मंजिल पर गए और वहां आपत्तिजनक झंडा लगा दिया। इसके बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। आरोपियों ने तिरंगा चोरी करने के बाद उसकी बेअदबी की और सारी घटना का वीडियो भी बना लिया।

मोगा के डीसी संदीप हंस ने कहा, यह एक ऐसा कार्य है जो न केवल घृणित और कायरतापूर्ण है, बल्कि राष्ट्र विरोधी भी है। उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। स्‍वतंत्रता दिवस से पहले ही खालिस्‍तान समर्थकों की संभावित हरकतों की आशंका के चलते राज्‍यभर में अलर्ट है।

उल्लेखनीय है कि रैफरैंडम 2020 की मुहिम चला रहे खालिस्तान पक्षीय गुरपतवंत सिंह पन्नू ने यह आह्वान किया था कि सिख खालिस्तान के झंडे फहराने के लिए आगे आएं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE