कमलनाथ की आरएसएस को चेतावनी – आदिवासियों को हिंदू बनाने पर होगी वैधानिक कार्रवाई

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शनिवार को कहा कि मध्य प्रदेश सरकार आरएसएस (RSS) को आदिवासियों (Tribals) के बीच अभियान चलाने की अनुमति नहीं देगी।

बता दें कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संचालक मोहन भागवत ने हाल ही में कहा कि 2021 की जनगणना में एक अभियान चलाकर आदिवासियों को इस बात के लिए प्रेरित किया जाएगा के लिए खुद को हिंदू कहें।

ऐसे में अब सीएम कमलनाथ ने चेतावनी दी कि अगर “निर्दोष आदिवासियों को उनकी इच्छा के विरुद्ध धार्मिक प्रतिबद्धता व्यक्त करने के लिए राजी करने के लिए इस तरह का अभियान चलाया गया तो संगठन के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।”

प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम के हवाले से लिखा गया कि, ” यह महसूस करते हुए कि एनआरसी को लागू करना मुश्किल होगा, आरएसएस दूसरे विभाजनकारी एजेंडे को दूसरे मार्ग से लागू करने की कोशिश कर रहा है। किसी भी कीमत पर किसी को भी शांतिप्रिय आदिवासियों के दिमाग में ज़हर घोलने की अनुमति नहीं दी जाएगी।” आरएसएस यदि किसी अभियान को आकार देगा तो उसके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई भी की जाएगी।

अब इस मामले संघ के बचाव में बीजेपी उतर आई है। बीजेपी के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर का कहना है कि यदि संघ आदिवासियों को हिंदू धर्म के साथ जोड़ने के लिए जनजागरुकता अभियान चलाता है तो उसमें कोई बुराई नहीं है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE