केरल ने लागू की कोरोना सेफ्टी गाइडलाइंस, अगले एक साल तक करना होगा पालन

नई दिल्ली: देश में बढ़ती कोरोना महामारी के बीच केरल में मुख्यमंत्री पिनरई विजयन के नेतृत्व वाली सरकार ने रविवार को कोरोना वायरस से जुड़े सुरक्षा संबंधी दिशा-निर्देश जारी किए। जिसका पालन करना सभी के लिए अनिवार्य होगा। एहतियात भी एक दो महीने नहीं बल्कि पूरे एक साल तक बरतनी होगी।

केरल के सीएम ऑफिस से जारी आदेश में कहा गया है कि आज सुबह 6 बजे से ट्रिपल लॉकडाउन यानी ज्यादा प्रतिबंध तिरुवनंतपुरम में एक हफ्ते तक लागू रहेंगे।  केरल सरकार ने लोगों के लिए कोविड 19 सेफ्टी गाइडलाइंस को एक साल तक अनिवार्य कर दिया है जिसके तहत सार्वजनिक जगहों पर एक साल तक मास्क पहनना जरूरी होगा।

ये कदम कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए उठाए जा रहे हैं। केरल सरकार ने इसे लागू करने के लिए अपने Epidemic Diseases Act में बदलाव किया है। राज्य सरकार ने कहा है कि नए नियम जुलाई 2021 तक लागू रहेंगे।राज्य सरकार के आदेश के अनुसार इस दौरान विवाह कार्यक्रमों में जहां 50 लोगों को शामिल होने की अनुमति होगी, वहीं अंतिम संस्कार में 20 लोगों के शामिल होने को इजाजत दी गई है। गाइडलाइन के अनुसार लोग संबंधित अथॅारिटी की लिखित परमिशन के बिना लोग किसी तरह का आयोजन, धरना या प्रदर्शन नहीं किया जा सकता। वहीं सार्वजनिक जगहों पर थूकना प्रतिबंधित होगा।

रविवार को केरल में कोरोना वायरस संक्रमण के 225 नए मामले सामने आए हैं। इनमें राज्य में सेना की एक इकाई के सात जवान भी शामिल हैं। अब, राज्य में संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर 5,429 हो गई है। जो नए मामले सामने आए हैं, उनमें से 117 मामले विदेशों से लौटे लोगों के हैं, 57 मामले अन्य राज्यों से लौटे लोगों के हैं, वहीं 38 मामले संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों के हैं।

गाइडलाइंस में क्या-क्या है शामिल:

– सार्वजनिक स्थलों/कार्यस्थलों पर सभी को फेस मास्क/फेस कवर पहनना होगा।
– सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।
– शादी से जुड़े कार्यक्रमों में अधिकतम 50 लोग ही बुलाए जा सकेंगे।
– गैर-कोरोना वाले अंतिम संस्कारों में महज 20 लोगों को जाने की अनुमति होगी।
– दुकानों और कमर्शियल जगहों पर एक वक्त पर 20 से अधिक लोगों को रहने/आने की अनुमति नहीं दी जाएगी। कमरे या जगह के हिसाब से यह संख्या तय होगी। साथ ही वहां उस दौरान छह फुट की सामाजिक दूरी का पालन भी करना होगा।
– सार्वजनिक स्थलों, सड़कों और फुटपाथ पर खुले में थूंकना सख्त मना रहेगा।
– अंतर्राज्यीय यात्रा के लिए पास की जरूरत नहीं पड़ेगी। हालांकि, उन्हें Jagratha ई-प्लैटफॉर्म पर खुद को रजिस्टर करना होगा।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE