Home राष्ट्रिय कठुआ गैंगरेप: बचाव पक्ष की एक दिन पहले गवाह की जानकारी देने...

कठुआ गैंगरेप: बचाव पक्ष की एक दिन पहले गवाह की जानकारी देने की मांग

531
SHARE

जम्‍मू-कश्‍मीर के कठुआ में आठ साल की बच्‍ची के साथ मंदिर में सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले में गुरुवार को 16वें गवाह का क्रास एग्जामिनेशन पूरा कर लिया गया। ट्रायल कोर्ट ने शुक्रवार को अगले यानी 17वें गवाह को पेश करने के आदेश सुनाए हैं।

गुरुवार को बचाव पक्ष के वकील एके साहनी ने ट्रायल के दौरान एप्लीकेशन देकर अपील करते हुए कहा कि सरकार पक्ष की ओर से पेश किए जाने वाले गवाहों की जानकारी डिफेंस को 1 दिन पहले दी जाए, गवाहों के बारे जानकारी न मिलने से डिफेंस को समस्या पेश आती है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा कि गवाह के बारे एडवांस में जानकारी मिलने से बचाव पक्ष को पता चलेगा कि अगले दिन किन चीजों पर जिरह की जानी है। लेकिन पब्लिक प्रोसिक्यूटर कोर्ट में गवाहों को धमकाने और सुरक्षा कारणों से उनकी जानकारी गुप्त रखने की दलील दे चुके हैं। ट्रायल कोर्ट ने बचाव पक्ष की इस एप्लीकेशन पर फैसला 1 अगस्त के लिए सुरक्षित रखा है।

इससे पहले कठुआ के हरिनगर में एसएचओ सुरेश गौतम ने कोर्ट को बताया था कि जांच के दौरान ही वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी ने इस पूरे घटनाक्रम में देवस्‍थान या मंदिर की संलिप्‍तता पर संदेह जताया था। गौतम ने कहा था क‍ि उन्‍होंने एसएसपी की ओर से बुलाई गई 18 जनवरी की बैठक में मंदिर को लेकर संदेह जताया था। संदेह की वजह यह थी कि घटना के बाद मंदिर को बंद पाया गया था।

लेकिन दत्‍ता ने उन्‍हें मंदिर की जांच करने से रोक दिया क्‍योंकि उनको इस बात की ‘पूरी जानकारी’ थी कि कठुआ पीड़‍िता को वहां पर बंद कर रखा गया था। एसएचओ गौतम इन दिनों सस्‍पेंड चल रहे हैं और विभागीय जांच का सामना कर रहे हैं।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर कठुआ गैंग रेप व हत्या केस का ट्रायल सेशन कोर्ट पठानकोट में शिफ्ट किया गया है।

Loading...