कश्मीर में गवर्नर का कोई काम नहीं, दारू पीता है और गोल्फ खेलता है: सत्यपाल मलिक

गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने जम्मू-कश्मीर को लेकर विवादित बयान दिया है। सत्यपाल मलिक ने कहा कि गवर्नर का कोई काम नहीं होता। कश्मीर में जो गवर्नर होता है वो अक्सर दारू पीता है और गोल्फ खेलता है। बता दें कि मलिक जम्मू-कश्मीर के गवर्नर रह चुके है।

रविवार को मलिक बागपत स्थित अपने पैतृक गांव हिसावदा पहुंचे थे, जहां एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने एक सभा को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं हैं। मलिक ने कहा, “गवर्नर का कोई काम नहीं होता है, कश्मीर में जो गवर्नर होता है अक्सर वो दारू पीता है और गोल्फ खेलता है, बाकी जगह जो गवर्नर होते हैं वो आराम से रहते हैं, किसी झगड़े में नहीं पड़ते हैं।”

उन्होंने आगे कहा “मुझे बिहार में भेजा गया था, मैंने कोशिश की वहां की शिक्षा में सुधार करने की। ऐसे-ऐसे कॉलेज थे, 110 कॉलेज थे नेताओं के जिनमें एक भी अध्यापक नहीं था। बीएड का दाखिला करते थे, 30 लाख रूपये लेते थे, इम्तिहान करते थे, डिग्री देते थे। मैंने सारे खत्म किये और सेट्रलाइज्ड इम्तिहान कराया।”

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने में तत्कालीन राज्यपाल सत्यपाल मलिक की अहम भूमिका रही थी। इसके दो महीने बाद तक वह जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल रहे। इसके बाद उन्हें 3 नवंबर 2019 को गोवा का राज्यपाल नियुक्त किया गया।

सत्यपाल मलिक ने कहा कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना काफी मुश्किल काम था, लेकिन केंद्र सरकार ने यह कर दिखाया। अब वहां की आवाम स्वयं को सुरक्षित महसूस कर रही है। आर्टिकल 370 हटने से पड़ोसी देश बौखलाया हुआ है। पाकिस्तान अगर अपनी हरकतों से बाज नहीं आया, तो उसे पीओके से भी हाथ धोना पड़ सकता है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE