सामान्य स्थिति बहाल होने के बाद जम्मू-कश्मीर को दिया जाएगा राज्य का दर्जा: गृह मंत्रालय

0
236

गृह मंत्रालय (एमएचए) ने कहा है कि सामान्य स्थिति बहाल होने के बाद जम्मू-कश्मीर में “उचित समय” पर पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल किया जाएगा।

राज्यसभा में शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी को एक लिखित जवाब में, गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि सामान्य स्थिति बहाल होने के बाद जम्मू-कश्मीर को उचित समय पर राज्य का दर्जा दिया जाएगा।

विज्ञापन

5 अगस्त, 2019 को जम्मू और कश्मीर राज्य से अनुच्छेद 370 और 35A को हटाने के बाद राज्य का दर्जा छीन लिया गया था। राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों – जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में विभाजित किया गया था।

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा स्थिति पर भाजपा सांसद सस्मित पात्रा को एक अलग प्रतिक्रिया में, नित्यानंद राय ने कहा कि जम्मू और कश्मीर में 2019 की तुलना में 2020 के दौरान आतं’कवादी घटनाओं में 59 प्रतिशत और जून 2021 तक 32 प्रतिशत की कमी आई है।

नित्यानंद राय ने लिखित जवाब में कहा कि सरकार की आ’तंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति है और आतं’कवादी संगठन द्वारा पेश की गई चुनौतियों से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए सुरक्षा को मजबूत करने, घेराबंदी और तलाशी अभियान जैसे विभिन्न उपाय किए हैं।

मंत्री ने अपने जवाब में कहा कि सुरक्षा बल उन लोगों पर भी कड़ी नजर रखते हैं जो आतंकवादी समूहों को सहायता प्रदान करने का प्रयास करते हैं। घाटी में कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास के मुद्दे पर गृह मंत्रालय ने कहा कि वर्तमान में कश्मीर में कश्मीरी पंडितों और डोगरा हिंदुओं के 900 परिवार रह रहे हैं। MHA ने कहा कि सरकार उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी कदम उठा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here