एएमयू छात्रों का घर लौटना शुरू, जामिया छात्रों को भी  हॉस्टल खाली करने का आदेश

लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रावासों में रह रहे विद्यार्थियों को घर भेजने का कार्य शुरू कर दिया है। हॉस्टल में फंसे छात्रों को घर पहुंचाने के लिए सरकार ने परिवहन व्यवस्था की सुविधा शुरू कर दी है।

विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा प्रदेश के विभिन्न जनपदों के अध्ययनरत छात्रों को घरों को भेजने के लिए जिला प्रशासन से 20 बसों की मांग की गई थी। जिस पर आज जिला प्रशासन ने एएमयू को 15 बसे उपलब्ध कराई है। 13 रूट चिन्हित किए गए हैं, बसों पर पास लगा कर रवाना किया जा रहा है।

इसी के साथ विश्वविद्यालय ने गर्मियों की छुट्टियों की घोषणा कर दी है। विश्वविद्यालय प्रशासन ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि मई और जून महीने में न कोई कक्षा होगी, न कोई परीक्षा होगी और न ही कोई प्रवेश परीक्षा होगी। रजिस्ट्रार एपी सिदद्की की ओर से छात्रों, शिक्षकों और कर्मियों के लिए जारी किए गए नोटिस में लिखा है कि कोविड-19 से बचाव के चलते लॉकडाउन बढ़ने और यूजीसी की 29 अप्रैल की गाइडलाइन के तहत यह फैसला लिया गया है।

वहीं जामिया मिल्लिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) ने छात्रावासों में रह रहे छात्रों को शुक्रवार को निर्देश दिया कि वे अपने कमरे खाली कर घर लौट जाएं। यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार ए.पी. सिद्दकी ने शुक्रवार को एक आदेश जारी करके कहा है कि यूनिवर्सिटी की छटि्टयां घोषित हैं। जुलाई में परीक्षाएं नोटिफाई हैं। अगस्त, 2020 में रेगुलर स्टूडेंट्स के लिए यूनिवर्सिटी खुलेगी।

नए सत्र की शुरुआत सितंबर, 2020 में होगी। इसलिए यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी और अन्य सुविधाएं लॉकडाउन में बंद रहेंगी। पहले भी आदेश दिए जाने के बावजूद ट्रांसपोर्ट सुविधा या दूसरी दिक्कत से स्टूडेंट्स हॉस्टल में रुक गए थे।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE