दिल्ली में कोरोना के कहर के चलते 30 जून तक जामा मस्जिद बंद

कोविड-19 मामलों में वृद्धि के चलते दिल्ली की जामा मस्जिद को 30 जून तक फिर से बंद करने का फैसला लिया गया है। इस बात की जानकारी खुद शाही इमाम सैयद अहमद शाह बुखारी ने दी है। बुखारी ने ट्वीट कर बताया कि कोरोना संक्रमण के विस्तार को देखते हुए गुरुवार 11 जून से 30 जून तक मस्जिद में नमाज अदा नहीं करने का निर्णय लिया गया है।

उन्‍होंने लिखा, ‘लोगों की राय और विद्वानों/धर्मगुरुओं से सलाह लेने के बाद यह फैसला लिया गया है। जामा मस्जिद में 30 जून तक लोगों के नमाज पढ़ने पर मनाही है। इस दौरान जामा मस्जिद में कोई भी नमाज अदा नहीं की जाएगी। उन्‍होंने कहा कि देशभर के मस्जिद के जिम्मेदार लोगों को भी इस मामले में विचार करना चाहिए।

दरअसल, एक दिन पहले ही जामा मस्जिद के कर्मचारी अमानतुल्ला की कोरोना वायरस के कारण मौ’त हो गई थी, जिसके बाद जामा मस्जिक को बंद करने का फैसला किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘यदि ऐसी स्थिति उत्पन्न होती है जब मानव जीवन खतरे में हो तब लोगों के जीवन की रक्षा के लिए आवश्यक होता है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अधिकतर लोगों की राय है कि मानव जीवन बचाना सर्वोपरि है और शरीयत में इसके लिए विशेष उल्लेख है।’’

बुखारी ने कहा कि जनता की राय लेने और विद्वानों से मशविरा करने के बाद यह निर्णय किया गया है कि गुरुवार मग़रिब (शाम) से 30 जून तक जामा मस्जिद में कोई सामूहिक नमाज नहीं होगी। उन्होंने कहा, ‘कुछ चुनिंदा लोग प्रतिदिन 5 समय नमाज अदा करेंगे जबकि आम नमाजी अपने घर पर ही नमाज अदा करेंगे।’
सरकार के ‘अनलॉक-1’ के तहत रियायतें दिए जाने के साथ ही 2 महीने से अधिक समय बाद 8 जून को जामा मस्जिद को खोला गया था। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में कोविड-19 के मामले बढ़कर 32,810 हो गए जबकि मृत’क संख्या बढ़कर 984 हो गई।

    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE