खाड़ी देशों में फंसे नागरिकों को निकालने के लिए भारतीय नौसेना तैयार: एडमिरल करंबार सिंह

भारतीय नौसेना के प्रमुख एडमिरल करंबार सिंह ने कहा कि वे अंतरराष्ट्रीय यात्रा को बंद करने वाले कोरोनोवायरस प्रकोप के बीच खाड़ी देशों से फंसे हुए नागरिकों को निकालने के लिए तैयार है।

सिंह ने कहा कि देश में “खाड़ी में बड़ी संख्या में प्रवासी” है, हमसे उन्हें (हमारे नागरिकों को खाड़ी देशों से निकालने के लिए) निकालने के लिए तैयार रहने को कहा गया है।  इसलिए हमने अपने पोत (Ships) तैयार कर लिए हैं और जैसे ही हमें उन्हें निकालने के आदेश मिलते हैं, हम निकल पड़ेंगे।

नौसेना के वाइस चीफ वाइस एडमिरल जी अशोक कुमार ने कहा कि खाड़ी देशों से भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए हमारे पास कई युद्धपोत तैयार हैं। इसके लिए हमने 14 युद्धपोतों को तैयार रखा है। इनमें से 4 पश्चिमी नौसेना कमान में, 4 पूर्वी कमान में और 3 दक्षिणी कमान में हैं। नौसेना की पश्चिमी कमान मुंबई में, पूर्वी कमान विशाखापटनम में और दक्षिणी कमान कोच्चि में है।

प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने तीनों सेना प्रमुखों के साथ एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘जो भी सहायता की आवश्यकता है, हम उसे पूरा करेंगे।” वहीं वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने कहा कि मालवाहक विमान का एक बेड़ा बिल्कुल तैयार है और सरकार जो भी कार्य सौंपेगी, वायु सेना उसे करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

बताते हैं कि लॉकडाउन खुलने के बाद युद्ध-स्तर पर विदेश में फंसे भारतीयों को भारत लाने के लिए अभी तक का सबसे बड़ा अभियान चलाया जाएगा। लेकिन लॉकडाउन 3 मई से बढ़ाकर 17 मई तक कर दिया गया है। ऐसे में इस रेस्क्यू ऑपरेशन (Rescue Operation) की शुरुआत कब होगी, इसकी कोई तय तारीख नहीं है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE