हिजाब विवाद के बीच इस हिजबी छात्रा ने जीते 16 गोल्ड मैडल , कहा पढ़ती हूँ रोज़ तहज्जुद की नमाज़

0
826

हिजाब को लेकर जहां देश में इतना ज्यादा फसाद फैला हुआ है वही बुशरा नामक एक हिजाबी लड़की पूरे देश का नाम रोशन कर रही है गोल्ड मेडल जीतने वाली लड़की जिसका नाम बुशरा मतीन है वह कर्नाटक से बिलॉन्ग करती है इसके साथ ही बुशरा मतीन को 10 मार्च को लोकसभा स्पीकर ओम बिरला और राज्यपाल के हाथों से सम्मानित किया गया है।

इनकी उम्र 22 वर्षीय है और यह कर्नाटक के विश्व प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से मान्यता प्राप्त एसएलएन कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग इन सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करके उसमें 16 गोल्ड मेडल जीतकर प्रथम स्थान हासिल किया हैं इसके अलावा उनकी स्कूलिंग सेंट मैरी कान्वेंट की है बुशरा मतीन कहती हैं कि मैं अल्लाह की बहुत शुक्रगुजार हूं जिसने मुझे इतनी कामयाबी और इतनी ज्यादा रिस्पेक्ट से नवाजा है।

विज्ञापन

उनका कहना यह है कि उनकी नमाज और दुआओं का यह सिला है इसके साथ ही वह बताती है कि वह तहज्जुद रोजाना पड़ती है वो आगे कहती हैं कि तहज्जुद नमाज़ कामयाबी के लिए बहुत ही जरूरी है और इस नमाज में जो दुआ मांगी जाती हैं वह कुबूल होती है इसके साथ ही वह आगे कहती हैं कि उनका मानना है कि नमाज से ही सारी प्रॉब्लम का हल निकलता है।

बुशरा मतीन के पिता सरकारी इंजीनियर है वह भी अपनी बेटी पर काफी फख्र करते हैं इसी तरह एक हिजाबी महिला को राष्ट्रपति तक का पद मिला है इनका नाम सामिया सुलुहू हसन है यह तंजानिया देश की राष्ट्रपति घोषित की गई जहां पर लोग हिजाब को यह बोल रहे हैं कि यह लड़कियों की स्वतंत्रता को और उनके पढ़ने लिखने की स्वतंत्रता को खत्म करता है वही यह दो लोग अपनी इस स्टीरियोटाइप को रोंदते हुए आगे निकल रही हैं।

अदेश में चल रहे हजाब विवाद के चलते कर्नाटक की कुछ छात्राओं ने याचिका दायर की थी कि हिजाब पहनना उनका हक है लेकिन कर्नाटक हाई कोर्ट ने उनकी याचिका को खारिज करते हुए यह कह दिया था कि इस्लाम में इसे पहनना अनिवार्य नहीं है जिसके बाद इन याचिकाकर्ताओं ने हाईकोर्ट के फैसले को जवाब देने के लिए कहा है कि वह सुप्रीम कोर्ट जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here