पूर्व CJI रंजन गोगोई ने ली राज्यसभा की सदस्यता की शपथ, लगे शेम-शेम के नारे

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई ने गुरुवार को राज्यसभा सांसद के तौर पर शपथ ली। जब वह सदन में शपथ ले रहे थे, तब कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियों के सांसदों ने विरोध जताते हुए सदन से वाकआउट किया। इस दौरान कांग्रेस सांसदों ने शेम-शेम के नारे भी लगाए। बता दें कि गोगोई को सोमवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्यसभा के लिए नामित किया था।

जस्टिस गोगोई ने शपथ लेने के बाद सभी सदस्यों से हाथ जोड़कर नमस्ते कहा। जब सदन से बाहर पत्रकारों ने विपक्ष की नारेबाजी पर उनसे सवाल किया तो जस्टिस गोगोई ने कहा कि वे जल्द ही उनका स्वागत करेंगे। मैं उनकी आलोचना नहीं करना चाहता।

दरअसल, कांग्रेस पार्टी की ओर से पूर्व CJI रंजन गोगोई को मनोनीत किए जाने पर सवाल खड़े किए हैं। राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा का कहना है कि हमें आपत्तियां हैं क्योंकि वह एक विवादास्पद मुख्य न्यायाधीश थे। उनकी नियुक्ति ने Quid Pro Quo का मुद्दा उठाया है। यह न्यायपालिका की स्वतंत्रता को कमजोर करता है। कांग्रेस नेता ने कहा कि वह हाल ही में रिटायर हुए हैं और विवादित फैसले दिए हैं।

वहीं सदन में हंगामे पर सभापति नायडू ने कहा, ‘आप संवैधानिक प्रावधानों को जानते हैं, आप उदाहरणों को जानते हैं, आप राष्ट्रपति के अधिकारों को जानते हैं। नायडू ने कहा कि आपको सदन में ऐसा कुछ नहीं करना चाहिए। किसी मुद्दे पर पर आप अपनी राय सदन के बाहर व्यक्त करने के लिए स्वतंत्रता हैं। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि विपक्षी सदस्यों का आचरण पूरी तरह से अनुचित था।

प्रसाद ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों के कई गणमान्य लोग इस सदन के सदस्य रहे हैं। उन लोगों में पूर्व न्यायाधीश भी शामिल हैं जिन्हें मनोनीत किया गया था। नायडू ने कहा कि हमें सदस्य का सम्मान करना चाहिए। सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले कई सदस्यों ने गोगोई को बधाई दी। वह सदन में मनोनीत सदस्य सोनल मान सिंह के पास वाली सीट पर बैठे थे।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]