राजस्थान का सियासी संग्राम पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, गहलोत ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

राजस्थान का सियासी संग्राम थमने के नाम नहीं ले रहा है। अब यह देश की सर्व्वोच अदालत पहुंच चुका है। स्पीकर सीपी जोशी ने हाईकोर्ट ने दखल को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दायर करने का फैसला किया, तो वहीं शाम होते-होते सचिन पायलट ने भी कोर्ट में कैविएट लगा दी।

इसके अलावा केन्द्र सरकार को इस मामले में पार्टी (पक्षकार) बनाने को लेकर पालयट खेमे के विधायक पी.आर. मीणा ने भी अर्जी लगाई गई है, जिसमें उन्होंने इसे संवैधानिक मामला बताते हुए केन्द्र को पक्षकार बनाने की बात कही है। स्पीकर की ओर से कपिल सिब्बल (kapil sibal ) पक्ष रखेंगे।

इसी बीच मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। पत्र में उन्‍होंने अपनी सरकार को गिराने की साजिश रचे जाने का आरोप लगाया है। पीएम को लिखे पत्र में सीएम गहलोत ने लिखा है कि राज्यों में चुनी हुई सरकारों को लोकतांत्रिक मर्यादाओं के विपरीत हॉर्स ट्रेडिंग के माध्यम से गिराने के लिए कुत्सित प्रयास किए जा रहे हैं।

उन्होंने लिखा है, ‘हमारे संविधान में बहुदलीय व्यवस्था के कारण राज्यों एवं केंद्र में अलग-अलग दलों की सरकारे चुनीं जाती रही है। यह हमारे लोकतंत्र की खूबसूरती ही है कि इन सरकारों ने दलगत राजनीति से ऊपर उठकर लोकहित को सर्वोपरि रखते हुए काम किया है।’

उन्होंने ये भी लिखा है कि पूर्व पीएम राजीव गांधी की सरकार द्वारा वर्ष 1985 में बनाए गए दलबदल निरोधक कानून और अटल बिहारी वाजपेयी सरकार द्वारा किए गए संशोधन की भावनाओं को जनहित को दरकिनार करके पिछले कुछ समय से लोकतांत्रित तरीके से चुनी गई राज्‍य सरकारों को अस्थिर करने का प्रयास किया जा रहा है। यह जनमत का घोर अपमान और संवैधानिक मूल्‍यों की खुली अवहेलना है। कर्नाटक और मध्‍य प्रदेश में हुए घटनाक्रम इसके उदाहरण हैं।

गहलोत ने लेटर में लिखा है, कोरोना संकट के बीच हमारी प्राथमिकता जनता की मदद करना हैं, लेकिन राज्य में चुनी हुई सरकार को गिराने की साजिश चल रही है, लेकिन हमारी सरकार सुशासन देते हुए अपना कार्यकाल पूरा करेगी। पत्र में गहलोत ने यह भी लिखा कि उनकी सरकार को अस्थिर करने की कोशिश में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, बीजेपी के अन्‍य नेता और हमारी पार्टी के अति महत्‍वाकांक्षी नेता भी शामिल हैं। इसमें से एक भंवर लाल शर्मा जैसे वरिष्‍ठ नेता ने स्‍वर्गीय भैंरोसिंह शेखावत सरकार को भी विधायकों की खरीद-फरोख्‍त करके गिराने का प्रयास किया था।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE