CAA विरोध में शामिल होने पर पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी पर एफआईआर

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी के खिलाफ लखनऊ में एफआईआर दर्ज की गई है। वह रविवार को राजधानी में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ समर्थकों के साथ कैंडल मार्च निकाल रहे थे।

पुलिस ने कुरैशी समेत आठ को नामजद और अन्य अज्ञात लोगों पर गोमतीनगर थाने में एफआइआर दर्ज की है। पुलिस ने अजीज कुरैशी, जलील, महफूज, सलमान मंसूरी, वली मोहम्मद रहनुमा खान, प्रियंका मिश्रा, सुनील लोधी समेत अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 144 सीआरपीसी का उल्लंघन करने में मामला दर्ज किया है।

एफआइआर में कहा गया है कि कुरैशी करीब 40 समर्थकों के साथ डिगडिगा चौराहे से फन माल की ओर जाने वाली सड़क पर कैंडल मार्च की अगुवाई कर रहे थे। पुलिस ने उन्हें रोका और बताया कि शहर में धारा 144 लागू है, लेकिन वह फिर भी नहीं माने।

पुलिस के अनुसार मना करने पर एनआरसी और सीएए के विरोध में पोस्टर और तख्तियां लेकर सभी नारेबाजी करने लगे, जिसके बाद पुलिस ने बलपूर्वक उन्हें काबू किया और फिर एफआइआर दर्ज की।

प्रदर्शनकारियों से पुलिस ने कहा था कि वे बिना पूर्व अनुमति के मार्च नहीं निकाल सकते हैं, क्योंकि इलाके में धारा 144 लागू है। फिर भी प्रदर्शनकारियों ने मार्च निकालने की कोशिश की थी। गौरतलब हो कि अजीज कुरैशी उप्र, उत्तराखंड और मिजोरम के राज्यपाल रह चुके हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE