Home राष्ट्रिय सबूत बता रहे है कि अकबर की मौत पुलिस कस्टडी में हुई:...

सबूत बता रहे है कि अकबर की मौत पुलिस कस्टडी में हुई: गृहमंत्री कटारिया

1425
SHARE

गाय के नाम पर अलवर में हुए अकबर हत्याकांड में पुलिस कार्रवाई पर उठ रहे सवालों के बीच मंगलवार को गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया घटनास्थल का जायजा लेने अलवर पहुंचे। इस दौरान उन्होने कहा कि हमे जो सबूत मिले हैं उससे प्रथम दृष्टया ये मामला पुलिस हिरासत में मौत का लगता है।

कटारिया ने कहा है कि दोषी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है और मामले की तह तक जाने की कोशिश की जा रही है। इस दौरान कटारिया के साथ डीजीपी ओपी गहलोत्रा भी हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मामले की न्यायिक जांच करने के सवाल पर कटारिया ने कहा कि वस्तु स्थिति का मौका मुआयना करने के बाद जो उचित लगेगा वही किया जाएगा। कटारिया ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि पुलिस की भूमिका की जांच कराई गई है। जांच रिपोर्ट मिल गई है।

कटारिया ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि जिसने भी कानून तोड़ा है। कानून की पालना करवाना हमारा धर्म है। हम 100 प्रतिशत कानून की पालना करेंगे और कानून के तहत जिसने जितनी गलती की है। उसका दंड उसे निश्चित रुप से दिया जाएगा। चाहे कोई गो तस्करी करता है या फिर गैरकानूनी काम करता है, कानून किसी को ये इजाजत नहीं देता कि वे कानून को अपने हाथ में लें।

बता दे कि इससे पहले स्पेशल डीजी एनआरके रेड्डी ने सोमवार को प्रेसवार्ता में बताया कि सूचना मिलते ही रामगढ़ थाना पुलिस घटनास्थल पर पंहुच गई थी। लेकिन मौके पर मिले घायल अकबर की अंदरूनी चोट का सही अनुमान नहीं लगा पाई और गायों को गोशाला में पहुंचाने की व्यवस्था करने में जुट गई। इसके बाद अलसुबह अकबर को अस्पताल पहुंचाया गया।

अकबर को देरी से घायल को अस्पताल पहुंचाने में विलंब हो गया। गायों को गोशाला में दाखिल करने के बाद घायल अकबर उर्फ रकबर को अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल पहुंचाने पर उसे मृत घोषित कर दिया गया। इस मामले में पुलिस टीम के प्रभारी एएसआई मोहन सिंह को निलंबित कर दिया गया है । मामले में चार कांस्टेबल को लाइन हाजिर किया गया है।

Loading...