ब्लू स्टार की बरसी पर बोले अकाल तख्त के जत्थेदार – ‘हर सिख चाहता है खालिस्तान’

अमृतसर ऑपरेशन ब्लू स्टार’ के 36 साल पूरे होने पर शनिवार को स्वर्ण मंदिर परिसर में खालिस्तान के समर्थन में नारे लगाए गए। जिसका श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने भी समर्थन किया है। साथ ही उन्होने ये भी कहा कि खालिस्तान हर सिख की मांग है।

जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने पत्रकारों के साथ बातचीत करते कहा कि यदि समागम के बाद खालिस्तान के नारे लगाना कोई गलत बात नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि खालिस्तान बन जाए तो इसमें गलत क्या है? क्योंकि यह हर सिख की मांग है। उन्होंने कहा कि यदि सरकार खालिस्तान दे तो हमें खुशी होगी।

उन्होने कहा, भारत सरकार की नीतियां सिख विरोधी हैं, जिससे उन्हें लगता है कि भारत सरकार सिखों से सौतेला व्यवहार करती है। अगर सिखों को खालिस्तान मिल जाता है तो यह अंधे को दो आंखें देने वाली बात होगी। अगर सिख कौम के कुछ लोग अकाल तख्त पर आकर खालिस्तान के नारे लगाकर अपनी भावनाएं प्रकट करते हैं तो इसमें कुछ गलत नहीं है। यह उनका हक है जो वह मांग रहे हैं। अगर भारत सरकार यह उन्हें देती है तो इसमें बुराई कोई नहीं है।

एसजीपीसी अध्यक्ष गोविंद सिंह लोंगोवाल ने ज्ञानी हरप्रीत सिंह की मांग का समर्थन करते हुए कहा कि अगर भारत सरकार उनको खालिस्तान देती है तो वह उसका स्वागत करेंगे। वहीं दल खालसा संगठन के मुखी कुंवर पाल सिंह ने कहा है कि अकाल तख्त के जत्थेदार ने जो बयान दिया है, वह सराहनीय है। हम उसका समर्थन करते हैं, मगर सत्ता कभी मांग कर नहीं मिलती, हमेशा छीन कर ली जाती है।

इसके अलावा लुधियाना इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के चेयरमैन रमन सुब्रमण्यम ने कहा कि अकाल तख्त के जत्थेदार को इस तरह का बयान नहीं देना चाहिए। यह बयान राजनीति से प्रेरित है। अगर यह बयाना अकाल तख्त से जारी हुआ है तो शायद पंजाब के काले दिन फिर से शुरू हो चुके हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE